scorecardresearch
 

रुपया एक बार फिर 74 के पार, डॉलर के मुकाबले 43 पैसे टूटा

बुधवार को एक डॉलर के मुकाबले रुपया 74.11 के स्तर पर कारोबार कर रहा है. इंपोटर्स की तरफ से डॉलर की डिमांड एक बार फिर बढ़ने लगी है. इसकी वजह से रुपया फिर कमजोर होने लगा है.

प्रतीकात्मक तस्वीर (Reuters photo) प्रतीकात्मक तस्वीर (Reuters photo)

भारतीय रिजर्व बैंक और केंद्र सरकार के बीच जारी तनाव के बीच रुपया भी नीचे आ गया है. करीब दो हफ्ते बाद रुपया एक बार फिर 74 के पार पहुंच गया है. बुधवार को 1.05PM पर रुपया डॉलर के मुकाबले 43 पैसे टूटकर 74 के पार पहुंच गया है.

बुधवार को एक डॉलर के मुकाबले रुपया 74.11 के स्तर पर कारोबार कर रहा है. इंपोटर्स की तरफ से डॉलर की डिमांड एक बार फिर बढ़ने लगी है. इसकी वजह से रुपया फिर कमजोर होने लगा है.

रुपये में कमजोरी की एक वजह भारतीय रिजर्व बैंक और केंद्र सरकार के बीच जारी तनाव भी है. इस तनातनी के चलते चिंता का माहौल पैदा हो गया है. इसका भी सीधा असर भारतीय मुद्रा पर देखने को मिल रहा है.

इससे पहले सुबह भी रुपये ने कमजोर शुरुआत की. यह एक डॉलर के मुकाबले 73.91 के स्तर पर खुला. मंगलवार की बात करें तो रुपया 23 पैसे गिरकर बंद हुआ था.  इस गिरावट के साथ यह 73.68 रुपये प्रति डॉलर के स्तर पर बंद  हुआ था.

RBI-केंद्र सरकार के बीच तनातनी:

बता दें कि 26 अक्टूबर को विरल आचार्य ने मुंबई में आयोजित एक कार्यक्रम में बयान दिया था. इसमें उन्होंने केंद्रीय बैंक की स्वायत्तता को लेकर बात की थी. उन्होंने कहा था, ''अगर केंद्रीय बैंक की स्वायत्तता से समझौता हुआ तो उसके गंभीर नतीजे होंगे. उन्होंने कहा था कि इससे पूंजी बाजार में बड़ा संकट पैदा हो सकता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें