scorecardresearch
 

#BudgetAajTak: कॉरपोरेट जगत ने माना- मोदी सरकार में बड़े फैसले लेने की क्षमता

1 फरवरी को वित्त मंत्री अरुण जेटली आम बजट पेश करेंगे. इस आम बजट से पहले 'आजतक' का खास मंच तैयार है. आपकी जेब से जुड़े सवालों पर मंत्रियों अर्थशास्त्रियों और विपक्षी नेताओं की बेबाक राय इस बजट 'आजतक' में रखी जाएगी.

हीरो मोटर क्रॉप के ज्वॉइंट मैनेजर डायरेक्टर सुनील मुंजाल हीरो मोटर क्रॉप के ज्वॉइंट मैनेजर डायरेक्टर सुनील मुंजाल

1 फरवरी को वित्त मंत्री अरुण जेटली आम बजट पेश करेंगे. इस आम बजट से पहले 'आजतक' का खास मंच तैयार है. आपकी जेब से जुड़े सवालों पर मंत्रियों, अर्थशास्त्रियों और विपक्षी नेताओं की बेबाक राय इस बजट 'आजतक' में रखी जाएगी.

सोमवार को पूरे दिन विशेषज्ञ आम जनता से जुड़े सभी मुद्दों पर अपनी बेबाक राय रखेंगे. इस बार 'जनता को कैश पसंद है' बजट आजतक की थीम है. मोदी सरकार में मंत्री नितिन गडकरी, रविशंकर प्रसाद, अनंत कुमार और धर्मेंद्र प्रधान इसमें हिस्सा लेंगे.

किसानों की आय दोगुनी करेंगे: धर्मेंद्र प्रधान
पहला सेशन में पहुंचे कांग्रेस नेता राजीव शुक्ला ने कहा कि नोटबंदी से अर्थव्यवस्था पर बड़ा झटका लगा है, जबकि केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने इसे ऐतिहासिक फैसला बताया. सेशन में शामिल हुए केसी त्यागी ने कहा कि सरकार दाल ब्राजील और मोजांबिक से मंगवा रही है. केसी त्यागी ने सरकार की नीतियों पर भी सवाल उठाए. वहीं  धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि हम किसानों की आय दोगुनी करेंगे. दलहन पर सरकार का ध्यान है.

बीमा योजना नहीं नई है: शुक्ला
राजीव शुक्ला ने कहा कि सरकार MSP खत्म करने जा रही है. ये गंभीर बात है. समर्थन मूल्य खत्म कर किसानों को परेशानी में डाला जा रहा है. मोदी सरकार की फसल बीमा योजना पर राजीव शुक्ला ने कहा कि ये पुरानी योजना है. सरकार ने कोई नया काम नहीं किया है. वहीं केसी त्यागी ने कहा कि बीमा योजना से निजी कंपनियों को ज्यादा फायदा होगा ना कि किसानों को.

#BudgetAajTak: राजीव शुक्ला बोले- नोटबंदी की दुनियाभर में निंदा

धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि ये बजट रोजगार बढ़ाने में कारगर साबित होगा. नई नौकरियां पैदा होगीं. नोटबंदी के बाद कितना पैसा वापस आया इस सवाल पर धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि ये आरबीआई बताए कि कितना पैसा वापस आया है.

पढ़ें: बजट आजतक 2017: नोटबंदी के चुनाव कनेक्शन में कलराज ने दिए टैक्स में राहत के संकेत

नोटबंदी के बाद हालात में सुधार: कलराज मिश्र
बजट आजतक के दूसरे सेशन में पहुंचे कलराज मिश्र ने कहा कि नोटबंदी के बाद शुरुआत में हुई दिक्कत अब खत्म हो गई है. प्रारंभ में परेशानी हुई, लेकिन धीरे-धीरे सब सामान्य हो गया है. उन्होंने कहा कि डिजिटल लेन-देन के लिए ट्रेनिंग दी जा रही है. हालांकि कलराज ये नहीं बता सके कि कितने दिनों में हालात पहले जैसे हो जाएंगे. उन्होंने कहा कि तेजी से सुधार हो रहा है. नोटबंदी के दौरान लोगों को हुई परेशानी पर मिश्र ने कहा कि नोटबंदी के बाद कहीं हिंसा नहीं हुई. लाइनें गैस सिलेंडर के लिए भी लगती थीं, तेल के लिए भी लगती थीं.

बजट में टैक्स कम होने के संकेत
सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों के केंद्रीय कैबिनेट मंत्री कलराज मिश्र ने बजट में टैक्स कम होने के संकेत दिए है. उन्होंने कहा कि टैक्स कम करने पर सरकार सकारात्मक है. टैक्स में छूट के लिए कई सुझाव मिले हैं. उन्होंने कहा कि बजट में लोगों को सहूलियत मिलनी चाहिए. बजट में आम जनता के हितों को ध्यान में रखा जाएगा.

'बजट का चुनावों से मतलब नहीं'
कलराज ने कहा कि नोटबंदी से लोगों को फायदा हुआ है. इससे राजनीतिक लाभ नहीं हुआ. नोटबंदी से जो भी पैसा आया है, उसका लोगों के हित में उपयोग किया जाएगा. बजट सिर्फ बजट होगा, इसका चुनावों से कोई मतलब नहीं है. नोटबंदी से लोगों का सरकार में विश्वास में बढ़ा है.

'BJP के भय से हुआ सपा-कांग्रेस का गठबंधन'
कलराज ने कहा कि उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी और कांग्रेस का गठबंधन बीजेपी के भय से बना है. हमें किसी से कोई भय नहीं है. बीजेपी पूर्ण बहुमत से सरकार बनाएगी.

'फैसले जल्द लेने चाहिए'
बजट आजतक के तीसरे सेशन में केंद्रीय इस्पात मंत्री चौधरी बीरेंद्र सिंह ने हिस्सा लिया. उन्होंने कहा कि नोटबंदी से कुछ सेक्टर में तकलीफ हुई होगी, लेकिन इस बार रबी और खरीफ की रिकॉर्ड पैदावर हुई है. कांग्रेस से बीजेपी में आए बीरेंद्र सिंह ने कहा कि मैंने कांग्रेस को देखा और बीजेपी को देख रहा हूं. लेकिन इस सरकार में तुरंत फैसले लेने की ताकत है, जो कांग्रेस से अलग है. पिछले ढाई साल से सरकार सही रास्ते पर है. बीरेंद्र सिंह ने कहा कि देश हित में फैसले जल्दी होने चाहिए. गलत होने पर भी फैसले जल्दी लिए जाने चाहिए. बदलाव फैसले लेने से ही होता है. बदलाव हो रहा है. एक साथ कुछ भी नहीं होता है.

पढ़ें: किसी भी परिस्थिति में फैसला लेने में सक्षम है मोदी सरकार
हाल में हुए रेल हादसे चिंता का विषय
चौथे सेशन में रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने हिस्सा लिया. मनोज सिन्हा ने कहा कि रेलवे में सुधार के कई काम किए गए हैं. रेल भाड़े के सवाल पर मनोज सिन्हा ने कहा कि 1 किमी के सफर में 75 पैसे खर्च होते हैं, लेकिन हम सिर्फ 40 पैसे वसूलते हैं. पिछले ढाई साल में यात्रियों की सुविधा के लिए सराहनीय काम हुआ है. रेल सुरक्षा पर मंत्री ने कहा कि रेल सबसे सॉफ्ट टारगेट होता है. कानून व्यवस्था राज्य सरकार का काम है, आतंकियों पर सरकार नकेल कस रही है. उन्होंने कहा कि पिछले दिनों में जो भी हादसे हुए वो चिंता का विषय. हमें सीमाएं हैं और संसाधन भी कम है.

पढ़ें: #BudgetAajTak: 'भारतीय रेल को जीरो एक्सीडेंट रेल बनाने की तैयारी'

गठबंधन से कोई फर्क नहीं: मनोज सिन्हा
सपा और कांग्रेस के गठबंधन पर मनोज सिन्हा ने कहा कि कांग्रेस शून्य है. हमें इससे कोई फर्क नहीं पड़ता. उत्तर प्रदेश में हम मजबूत हैं. नोटबंदी पर सिन्हा ने कहा कि पीएम मोदी का 27 महीनों का काम इसे संभाल लेगा. उन्होंने कहा कि चुनावों में हम नोटबंदी और सर्जिकल स्ट्राइक दोनों की बात करेंगे.

'सरकार ने लिए बड़े फैसले'
बजट आजतक के चौथे सेशन में स्पाइस जेट के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्ट अजय सिंह, हीरो मोटर क्रॉप के ज्वॉइंट मैनेजर डायरेक्टर सुनील मुंजाल और डीसीएम के चेयरमैन अजय श्रीराम ने हिस्सा लिया. अजय सिंह ने कहा कि नोटबंदी से टैक्स का दायरा बढ़ेगा. टैक्स की दर कम होना चाहिए. कॉरपोरेट टैक्स को 25 फीसदी किया जाए. वहीं सुनील मुंजाल ने कहा कि सरकार ने बड़े फैसले लिए हैं, जिसका असर भविष्य में दिखाई देगा. नोटबंदी के असर पर उन्होंने कहा कि 9 से 10 महीने तक इसका असर दिखाई देगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×