scorecardresearch
 

भारत में आर्थिक सुधारों का असर, कारोबार के माहौल की रैंकिंग में 30 पायदान की छलांग

मोदी सरकार के आने के बाद से भारत में कारोबार करने के माहौल में काफी सुधार हुआ है. दुनिया में कारोबार करने में आसानी को लेकर भारत 30 पायदान उछालकर 100वें स्थान पर आ गया है.

X
कारोबार  के माहौल में सुधार कारोबार के माहौल में सुधार

मोदी सरकार के आने के बाद से भारत में कारोबार करने के माहौल में काफी सुधार हुआ है. दुनिया में कारोबार करने में आसानी को लेकर भारत 30 पायदान उछलकर 100वें स्थान पर आ गया है. मंगलवार को वित्तमंत्री अरुण जेटली ने इसकी जानकारी दी.

जेटली ने बताया कि विश्व बैंक के ईज ऑफ डूइंग बिजनेस इंडेक्स में भारत ने इस साल जबरदस्त छलांग लगाई है. साल 2014 में भारत इस इंडेक्स में 142वें स्थान पर था, जबकि पिछले साल सुधार करते हुए 130वें स्थान पर पहुंच गया था.  इस इंडेक्स में 190 देशों को शामिल किया है, जिसमें भारत 30 पायदान झलांग के साथ 100वें स्थान पर पहुंच गया है. यह पहली बार है, जब भारत कारोबार सुगमता के मामले में शीर्ष 100 देशों में जगह बनाने में कामयाब हुआ है.

विश्व बैंक की रिपोर्ट के मुताबिक इस बार दुनिया में आर्थिक माहौल में सुधार करने वाले शीर्ष 10 देशों में भारत को जगह मिली है. रिपोर्ट में कहा गया कि बुनियादी ढांचा में सुधार करने के मामले में भारत शीर्ष पर है. आर्थिक सुधारों के चलते भारत की रैंकिंग में यह जबरदस्त सुधार देखने को मिला है. दिवालियापन से निपटने के मामले में भी भारत सुधार करते हुए 136वें स्थान से 103वें स्थान पर पहुंच गया है.

वहीं, ईज ऑफ डूइंग बिजनेस इंडेक्स में पड़ोसी देश भूटान 75वें और नेपाल 105वें स्थान पर जगह बनाने में कामयाब रहे. रिपोर्ट के मुताबिक भारत में आठ क्षेत्रों में सुधार किया गया. व्यापक असर हुआ और रैंकिंग में तेजी से सुधार देखने को मिला. विश्व बैंक की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि भारत में टैक्स भुगतान करना भी आसान हुआ है. इस मामले में भारत की रैंकिंग में 53 पायदान का सुधार हुआ है. इसके साथ भारत टैक्स भुगतान को आसान बनाने के मामले में 119वें स्थान पर पहुंच गया है.

भारत में कॉरपोरेट इनकम टैक्स भुगतान को आसान बनाने के लिए प्रशासनिक कदम उठा गए. कर्मचारी भविष्य निधि समेत कई भुगतान को ऑनलाइन किया गया. रिपोर्ट में कहा गया कि इस तरह भारत सरकार ने आर्थिक सुधारों के लिए आठ क्षेत्र में बड़े कदम उठाए. विश्व बैंक में भारत के डायरेक्टर जुनैद अहमद का कहना है कि इन चुनौतीपूर्ण सुधारों से भारत की रैंकिंग में सुधार होगा.

वित्तमंत्री जेटली ने बताया कि सीमा पार व्यापार आदि क्षेत्रों में सुधार किया जा रहा है. इसके लिए ऑनलाइन व्यवस्था की जा रही है. इन क्षेत्रों तेजी से काम किया जा रहा है. आने वाले दिनों में इसके सकारात्मक परिमाण देखने को मिलेंगे. उन्होंने कहा कि हम ईज ऑफ डूइंग बिजनेस इंडेक्स में 50वें स्थान पर पहुंचने का लक्ष्य लेकर चल रहे हैं.

किस मामले में किस स्थान पर मिली जगह

- भारत बिजनेस करने के बेहतर माहौल के मामले में 30 पायदान की झलांग के साथ 100वें स्थान पर पहुंचा.

- बिजनेस शुरू करने के लिहाज से भारत 156वां सबसे बेहतरीन देश बना.

- छोटे शेयरधारकों की सुरक्षा के मामले में चौथे स्थान पर पहुंचा.

- कांट्रैक्ट लागू करवाने में भारत को 164वें स्थान पर जगह मिली.

- बिजनेस के लिए क्रेडिट उपलब्ध कराने के मामले में भारत 29वें पायदान पर पहुंचा.

- प्रॉपर्टी रजिस्टर करवाने के मामले में भारत को 154वां स्थान पर रखा गया.

- दिवालिया से निपटारे में 33 पायदान की छलांग के साथ भारत 103वें स्थान पर पहुंचा.

- सीमा पार व्यापार में भारत ने 146वें नंबर पर जगह बनाई.

- कंस्ट्रक्शन परमिट के मामले में आठ अंक की छलांग के साथ 181वें स्थान पर पहुंचा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें