scorecardresearch
 

नोटबंदी: क्या हुआ आम आदमी की 10 हजार रुपये बचत के PM मोदी के वादे का

नोटबंदी लागू करने के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पहली बार संसद में इस मुद्दे पर बोलते हुआ दावा किया था कि उनके फैसले से आम आदमी को बड़ा फायदा मिलेगा. नोटबंदी के फायदे के साथ-साथ पीएम मोदी ने वादा किया था कि इस कदम से देश में आम आदमी की जेब में प्रति माह 10 रुपये तक की बचत कर सकेगा.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

नोटबंदी लागू करने के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पहली बार संसद में इस मुद्दे पर बोलते हुआ दावा किया था कि उनके फैसले से आम आदमी को बड़ा फायदा मिलेगा. नोटबंदी के फायदे के साथ-साथ पीएम मोदी ने वादा किया था कि इस कदम से देश में आम आदमी की जेब में प्रति माह 10 रुपये तक की बचत कर सकेगा.

पीएम मोदी ने नोटबंदी के पक्ष में बोलते हुए कहा था कि उनका यह फैसला ऐसे समय में लिया गया जब देश की आर्थिक स्थिति बेहद मजबूत थी. प्रधानमंत्री ने कहा था कि नोटबंदी से देश में भ्रष्टाचार को बड़ा धक्का लगेगा और अब डिजिटल माध्यम के इस्तेमाल से ट्रांस्पेरेंसी आएगी जिसका सबसे बड़ा फायदा आम आदमी को होगा.

जानिए संसद में पीएम मोदी ने गिनाए थे क्या फायदे और आम आदमी की बचत का क्या दिया था फॉर्मूला:

1. नोटबंदी के बाद डिजिटल व्यवस्था की तरफ सरकार के प्रयासों की विपक्ष द्वारा आलोचना पर बोलते हुए मोदी ने कहा था कि विपक्षी दल अभीतक उस जमाने की बात करते हैं जब राजीव गांधी मोबाइल फोन लेकर आए थे. लेकिन मोबाइल फोन से आगे बढ़ने हुए मोबाइल बैंकिग और मोबाइल पेमेंट के हमारे प्रयासों पर उसे ऐतराज है.

2. नोटबंदी के फैसले पर सफाई देते हुए पीएम मोदी ने कहा कि नोटबंदी का पहला फायदा देश में सब्जी बेचने वाले को हुआ है. जहां पहले 52 रुपये की सब्जी होने पर उसे सिर्फ 50 रुपये मिलते थे, वहीं अब उसे पूरे पैसे मिलेंगे. प्रधानमंत्री ने कहा इसके चलते आज एक सब्जी वाला महीने के 8 से 10 हजार रुपये तक बचा रहा है.

3. विपक्ष का कहना है कि देश में सबके पास ऐसे स्मार्टफोन नहीं हैं कि वह इसका सहारा लें. पीएम मोदी ने सरकार के डिजिटल प्रयासों पर कहा कि देश में यदि 40 फीसदी लोगों के पास भी स्मार्टफोन है तो वह इन सुविधाओं के इस्तेमाल से देश को आगे बढ़ाने का काम कर सकते हैं.

4. मोबाइल के जरिए पेमेंट और कैशलेस इकोनॉमी पर विपक्ष के हमलों का जवाब देते हुए पीएम मोदी ने कहा कि अभी तक देश में एक एटीएम की सुरक्षा और उसमें पैसा सप्लाई करने के लिए पांच पुलिसवालों की जरूरत पड़ती थी. लेकिन केशलेस व्यवस्था की तरफ बढ़ने से बैंकों को ऐसे खर्चों से छुटकारा मिल जाएगा और बैंक अपनी आय कम कर सकेंगे.

5. नोटबंदी की वकालत करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि नोटबंदी एक सर्जरी थी और इस सर्जरी के लिए देश की अर्थव्यवस्था पूरी तरह से स्वस्थ थी. इसका उदाहरण देते हुए पीएम मोदी ने कहा कि जहां पहले के सालों में एक दिन जितना कारोबार होता था आज वह एक दिन में दीपावली के दिन हो जाता है.

6. मजबूत आर्थिक स्थिति का दावा करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि आज हमारे देश में कारोबारी 15-15 दिन की छुट्टियां मना लेते हैं. लिहाजा, पीएम ने कहा कि नोटबंदी के बाद अर्थव्यवस्था ठीक वैसी ही चल रही है जैसा नोटबंदी का फैसले लेते वक्त उम्मीद की गई थी.

7. पीएम मोदी ने नोटबंदी के फैसले को जायज ठहराते हुए कहा कि देश में मुनाफाखोरी और भ्रष्टाचार की समांनांतर व्यवस्था चल रही थी. नोटबंदी और उसके साथ उठाए गए कदमों से इस व्यवस्था को गहरी चोट लगी है.

8. नोटबंदी के बाद एक बात देश के सामने बिलकुल साफ है कि अब देश में जवाबदेही का दौर आया है. नोटबंदी लागू करने से पहले सरकार कड़े कानून बना चुकी है. देश में भ्रष्टाचार और कालाधन के लिए कोई जगह नहीं है क्योंकि यह दोनों ही देश में गरीबों के हक को लूटते थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें