scorecardresearch
 

RBI के कदम से निवेशकों में हड़कंप, 23 फीसदी तक गिर गया इस बैंक का शेयर

RBL Bank Share: आरबीआई के इस फैसले से निवेशकों में हड़कंप मच गया. इन्वेस्टर्स के बीच यह धारणा बनी कि किसी गडबड़ी के चलते रिजर्व बैंक ने यह कदम उठाया है. हालांकि आरबीएल बैंक ने एक बयान जारी कर इन्वेस्टर्स की धारणा को दूर करने का प्रयास किया.

X
लीडरशिप में अचानक हुआ बदलाव लीडरशिप में अचानक हुआ बदलाव
स्टोरी हाइलाइट्स
  • RBI के कदम से इन्वेस्टर्स में हड़कंप
  • 23 फीसदी तक गिरा RBL Bank का शेयर

आरबीएल बैंक (RBL Bank) की लीडरशिप में हुए बदलाव के बाद इसके शेयर लगातार गिर रहे हैं. सोमवार को ट्रेड के दौरान बीएसई (BSE) पर आरबीएल बैंक का शेयर करीब 23 फीसदी तक गिर गया. यह गिरावट आरबीआई (RBI) के हालिया कदम के बाद आई है.

खुलते ही आई 10 फीसदी गिरावट

आरबीएल बैंक का शेयर बीएसई पर 10 फीसदी गिरकर 155.25 रुपये पर खुला. थोड़ी देर में यह शेयर और गिर गया. दोपहर 10:15 बजे के करीब यह 23 फीसदी गिरकर 132.35 रुपये पर आ गया, जो 52 सप्ताह का निचला स्तर है. दोपहर के 02:40 बजे यह 16.72 फीसदी की गिरावट के साथ 143.65 रुपये पर कारोबार कर रहा था.

बैंक की लीडरशिप में हुए ये बदलाव

आरबीएल बैंक की लीडरशिप में पिछले दिनों बड़ा बदलाव हुआ है. लंबे समय से बैंक के एमडी एवं सीईओ (MD & CEO) रहे विश्ववीर आहूजा अचानक लंबी छुट्टी पर चले गए हैं. इसके बाद बैंक के बोर्ड ने एक्सीक्यूटिव डाइरेक्टर राजीव आहूजा को नया एमडी एवं सीईओ नियुक्त करने की मंजूरी दी. इस बीच रिजर्व बैंक ने अपने चीफ जनरल मैनेजर योगेश दयाल को आरबीएल बैंक के बोर्ड में एडिशनल डाइरेक्टर बनाने का फैसला किया.

डरे निवेशकों को बैंक ने दी यह सफाई

आरबीआई के इस फैसले से निवेशकों में हड़कंप मच गया. इन्वेस्टर्स के बीच यह धारणा बनी कि किसी गडबड़ी के चलते रिजर्व बैंक ने यह कदम उठाया है. हालांकि आरबीएल बैंक ने एक बयान जारी कर इन्वेस्टर्स की धारणा को दूर करने का प्रयास किया. बैंक ने कहा कि उसे आरबीआई का पूरा समर्थन हासिल है. हाल में हुए बदलाव का कर्ज, संपत्ति की गुणवत्ता या डिपॉजिट लेवल की किसी गड़बड़ी से कोई संबंध नहीं है.

इस कारण भी डरे इन्वेस्टर

कुछ एनालिस्ट की निगेटिव रिपोर्ट से भी इन्वेस्टर्स के बीच डर का माहौल बना. मोतीलाल ओस्वाल के एक नोट में बताया गया है कि आरबीएल बैंक की माइक्रो बैंकिंग और बिजनेस लोन पोर्टफोलियो में तेज गिरावट आई है. बैंक को हाल के कुछ सालों में प्रोविजन बढ़ाना पड़ा है, जिससे मुनाफा कमाने की क्षमता प्रभावित हुई है.

पैसे लगा सकते हैं झुनझुनवाला और दमानी

इस बीच खबर आ रही है कि बिग बुल नाम से मशहूर इन्वेस्टर राकेश झुनझुनवाला (Rakesh Jhunjhunwala) और डीमार्ट के फाउंडर आरके दमानी (RK Damani) आरबीएल बैंक में हिस्सा खरीदने की तैयारी में हैं. सीएनबीसी टीवी 18 की एक रिपोर्ट के अनुसार झुनझुनवाला और दमानी ने आरबीएल में हिस्सेदारी खरीदने के लिए रिजर्व बैंक से संपर्क किया है. आरबीआई अभी इस रिक्वेस्ट पर विचार कर रहा है. हालांकि न तो झुनझुनवाला ने और न ही दमानी ने अभी तक इसकी आधिकारिक पुष्टि की है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें