scorecardresearch
 

Flipkart वाले सचिन बंसल का धमाका, ला रहे हैं अपनी नई कंपनी का IPO

Navi Technologies IPO: फ्लिपकार्ट के को-फाउंडर सचिन बंसल की नई कंपनी Navi Technologies ने IPO के लिए सेबी में ड्राफ्ट पेपर जमा करा दिए हैं. कंपनी में बंसल का करीब 4,000 करोड़ का निवेश है.

X
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कंपनी की स्थापना 2018 में हुई थी
  • फाइनेंशियल प्रोडक्ट्स ऑफर करती है कंपनी

सचिन बंसल (Sachin Bansal) की अगुवाई वाली Navi Technologies इनिशियल पब्लिक ऑफर (IPO) लाने की तैयारियों में जोर-शोर से जुटी है. कंपनी ने 3,350 करोड़ रुपये के आईपीओ के लिए सेबी के पास प्रारंभिक दस्तावेज (Preliminary Papers) जमा करा दिए हैं. इस आईपीओ के ड्राफ्ट रेड हेयरिंग प्रॉस्पेक्ट्स (DRHP) के मुताबिक, प्रस्तावित आईपीओ के तहत केवल नए इक्विटी शेयर जारी किए जाएंगे.

बंसल की है इतनी हिस्सेदारी

दिग्गज ई-कॉमर्स कंपनी Flipkart के को-फाउंडर बंसल ने Navi में अब तक करीब 4,000 करोड़ रुपये का निवेश किया है. इस आईपीओ के तहत वह अपनी हिस्सेदारी नहीं घटा रहे हैं. 

इस मामले से अवगत लोगों के मुताबिक, कंपनी का आईपीओ (Navi Technologies IPO) जून में आ सकता है. ड्राफ्ट पेपर के मुताबिक कंपनी 670 करोड़ रुपये के प्री-आईपीओ प्लेसमेंट की संभावनाएं तलाश रही है. अगर ऐसा होता है तो आईपीओ के आकार में कमी आ जाएगी.

2018 में हुई थी Navi की स्थापना

आईपीओ से होने वाली आमदनी का इस्तेमाल नवी फिनजर्व प्राइवेट लिमिटेड (NFPL) और नवी जनरल इंश्योरेंस लिमिटेड (NGIL) में इंवेस्टमेंट और सामान्य कॉरपोरेट उद्देश्यों के लिए किया जाएगा. फ्लिपकार्ट (Flipkart) छोड़ने के बाद बंसल ने 2018 में अंकित अग्रवाल के साथ मिलकर Navi की स्थापना की थी.  

Navi Technologies के बारे में जानिए

Navi Technologies Company Profile: यह टेक्नोलॉजी पर आधारित फाइनेंशियल प्रोडक्ट्स और सर्विसेज कंपनी है. कंपनी 'Navi' ब्रांड के नाम से पर्सनल लोन (Personal Loan), होम लोन (Home Loan), जनरल इंश्योरेंस (General Insurance) और म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) प्रोडक्ट्स ऑफर करती है. यह 'Chaitanya' ब्रांड के नाम से पूर्ण स्वामित्व वाली सब्सिडियरी के जरिए माइक्रोफाइनेंस लोन भी ऑफर करती है. 

वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक Navi डिजिटल लेंडिंग ऐप है. यह पूरी तरह से पेपरलेस प्रोसेस के जरिए तत्काल 20 लाख रुपये का लोन देती है. 

ये हैं बुक रनिंग लीड मैनेजर

आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज (ICICI Securities), BofA Securities और एक्सिस कैपिटल (Axis Capital), Credit Suisse Securities (India) Pvt Ltd एवं एडलवाइज फाइनेंशियल सर्विसेज (Edelweiss Financial Services) इस पब्लिक ऑफर के बुक रनिंग लीड मैनजर हैं.

माइक्रोफाइनेंस सेग्मेंट में प्रवेश करने के लिए Navi ने 2019 में चैतन्य इंडिया फिन क्रेडिट (Chaitanya India Fin Credit) का अधिग्रहण किया था. Chaitanya ने यूनिवर्सल बैंकिंग लाइसेंस के लिए आरबीआई में अप्लाई किया है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें