scorecardresearch
 

राशन-गहने बेचने वाली रिलायंस की इस कंपनी का वैल्यूएशन हुआ 100 अरब डॉलर, देश की चौथी ऐसी कंपनी

उद्योगपति मुकेश अंबानी की रिलायंस ग्रुप की एक कंपनी का वैल्यूएशन 100 अरब डॉलर हो गया है. ये देश की चौथी ऐसी कंपनी है. रिलायंस ग्रुप की ये कंपनी राशन से लेकर गहने बेचने तक का सारा काम करती है. जानें पूरी खबर.

X
रिलायंस रिटेल का वैल्यूएशन 100 अरब डॉलर के पार (फाइल फोटो) रिलायंस रिटेल का वैल्यूएशन 100 अरब डॉलर के पार (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कंपनी के शेयर का भाव सवा साल में 600 रुपये बढ़ा
  • कंपनी के शेयरों में अनलिस्टेड मार्केट में होती है ट्रेडिंग

उद्योगपति मुकेश अंबानी की रिलायंस ग्रुप की एक कंपनी का वैल्यूएशन 100 अरब डॉलर हो गया है. ये देश की चौथी ऐसी कंपनी है. रिलायंस ग्रुप की ये कंपनी राशन से लेकर गहने बेचने तक का सारा काम करती है. जानें पूरी खबर.

शेयर बाजार में लिस्ट नहीं है कंपनी
इकोनॉमिक टाइम्स की खबर के अनुसार रिटेल सेक्टर में काम करने वाली रिलायंस रिटेल के गैर-सूचीबद्ध (अनलिस्टेड) शेयर का मौजूदा भाव अभी 1,500 रुपये तक है. ऐसे में 1,500 रुपये प्रति शेयर के हिसाब से कंपनी का वैल्यूएशन 100 अरब डॉलर (लगभग 7.5 लाख करोड़ रुपये) बैठता है.

करीब सवा साल में 600 रुपये बढ़ा भाव
रिलायंस रिटेल के शेयर का भाव दिसंबर 2019 में करीब 900 रुपये था. अभी ये 1500 रुपये के आसपास है. ऐसे देखा जाए तो लगभग सवा साल में कंपनी के शेयर का भाव 600 रुपये बढ़ गया है. 

अदला-बदली की स्कीम ने गिराया था शेयर भाव
दिसंबर 2019 में रिलायंस ने एक स्कीम निकाली थी. जिसमें कंपनी ने रिलायंस रिटेल के शेयरधारकों के सामने रिलायंस रिटेल के 4 शेयर के बदले उन्हें रिलायंस इंडस्ट्रीज का एक शेयर देने का ऑफर रखा. इसके बाद रिलायंस रिटेल का शेयर गिरकर 380 रुपये तक आ गया. बाद में जनवरी में कंपनी ने इस स्कीम को वैकल्पिक कर दिया और तब से कंपनी के शेयर का भाव अनलिस्टेड बाजार में लगातार बढ़ रहा है.

88.1% की वृद्धि दर्ज की है कंपनी ने
दिसंबर 2020 में समाप्त हुई तिमाही में रिलायंस रिटेल का एकीकृत शुद्ध लाभ 1,830 करोड़ रुपये रहा था. यह पिछली तिमाही के आधार पर देखा जाए तो 88.1% की वृद्धि रही है.

रिलायंस रिटेल समूह की रिटेल सेक्टर की कंपनी है. ये कई ब्रांड नाम जैसे कि रिलायंस फ्रेश, रिलायंस ट्रेंड्स, रिलायंस डिजिटल, रिलायंस ज्वैल्स नाम से कारोबार करती है. हाल में फ्यूचर समूह के रिटेल कारोबार को खरीदे जाने को लेकर किए गए सौदे और सौदे को लेकर कानूनी विवाद खड़ा होने के चलते ये कंपनी काफी सुर्खियों में रही है.

ये भी पढ़ें:

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें