scorecardresearch
 

LIC IPO के बारे मे आई अहम जानकारी, ये हो सकता है प्राइस रेंज 

मुख्य आर्थ‍िक सलाहकार (CEA) के.वी. सुब्रमण्यम ने कुछ दिनों पहले यह संकेत दिया था कि सरकार एलआईसी की 6 से 7 फीसदी हिस्सेदारी बेचकर 90,000 करोड़ रुपये कमा सकती है. यह सरकार के किसी वरिष्ठ अध‍िकारी की तरफ से मिला पहला संकेत था.

एलआईसी का आईपीओ इस साल आएगा एलआईसी का आईपीओ इस साल आएगा
स्टोरी हाइलाइट्स
  • इस साल आएगा LIC का आईपीओ
  • वैल्यूएशन की चल रही है प्रक्रिया
  • निवेशक काफी समय से इंतजार में

भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) का आईपीओ इस साल लाने की जोर-शोर तैयारी चल रही है. अब इस बारे में एक अहम जानकारी सामने आई है कि इस आईपीओ का प्राइस रेंज क्या हो सकता है. 

एक अनुमान के मुताबिक एलआईसी के इश्यू के लिए एक शेयर कीमत 400 से 600 रुपये के बीच रखी जा सकती है. असल में एलआईसी का पेडअप कैपिटल 25,000 करोड़ रुपये और वैल्यूएशन 10 से 15 लाख करोड़ रुपये होने का अनुमान है. इसी आधार पर यह अनुमान लगाया गया है. 

कैपिटल बेस को बढ़ाने का प्रस्ताव

सरकार ने एलआईसी के कैपिटल बेस को 100 करोड़ रुपये से बढ़ाकर 25,000 करोड़ रुपये करने का प्रस्ताव रखा है. इसकी वजह यह है कि अगर 100 करोड़ रुपये जैसा कम कैपिटल बेस रहा तो इसके एक शेयर की कीमत करीब 1 लाख रुपये के आसपास हो जाएगी. एलआईसी को सॉवरेन यानी सरकारी गारंटी है इसलिए उसे ज्यादा कैपिटल बेस रखने की जरूरत नहीं है. 

तो योजना के मुताबिक LIC Act, 1956 में संशोधन कर अथॉराइज्ड कैपिटल को बढ़ाकर 25,000 करोड़ रुपये किया जाएगा और इसे 10 रुपये के बेस प्राइस वाले 2,500 करोड़ शेयरों में बांटा जाएगा. यानी अगर इसी को पेडअप कैपिटल मान लिया जाए तो 10 रुपये के फेस वैल्यू वाले 2,500 करोड़ शेयर तैयार हो सकते हैं. 

CEA ने दिया था संकेत 

आईपीओ कीमत की गणना में उसके एम्बेडड वैल्यू और कॉरपोरेशन के ओवरऑल वैल्यूएशन का भी ध्यान रखा जाता है. इसके एम्बेडड वैल्यू की गणना की कवायद अभी चल रही है. एम्बेडड वैल्यू तय हो जाने के बाद इनवेस्टमेंट बैंक एंकर इनवेस्टर्स के साथ मिलकर प्राइस तय करेंगे. 

गौरतलब है कि मुख्य आर्थ‍िक सलाहकार (CEA) के.वी. सुब्रमण्यम ने कुछ दिनों पहले यह संकेत दिया था कि सरकार एलआईसी की 6 से 7 फीसदी हिस्सेदारी बेचकर 90,000 करोड़ रुपये कमा सकती है. यह सरकार के किसी वरिष्ठ अध‍िकारी की तरफ से मिला पहला संकेत था. उन्होंने कहा था कि एलआईसी का वैल्यूएशन 13 से 15 लाख करोड़ रुपये के बीच हो सकता है. 

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने वित्त वर्ष 2021-22  का बजट पेश करते समय यह कहा था कि इस साल एलआईसी का आईपीओ लाने के लिए सरकार तैयार है. 

(www.businesstoday.in/के इनपुट पर आधारित) 
 

 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×