scorecardresearch
 

महंगाई के मार्च में 4 महीने के उच्च स्तर पर रहने का अनुमान, पेट्रोल-डीजल की कीमतों ने बिगाड़ा गणित

देश में खुदरा महंगाई दर मार्च में 4 महीने के उच्च स्तर पर जा सकती है. 50 से अधिक अर्थशास्त्रियों के बीच किए गए एक सर्वे में इसका अनुमान जताया गया है. जानिए क्या सामने आया सर्वे में.

पेट्रोल-डीजल की कीमतें बिगाड़ रही जेब का गणित (सांकेतिक फोटो) पेट्रोल-डीजल की कीमतें बिगाड़ रही जेब का गणित (सांकेतिक फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • रिजर्व बैंक ने भी बढ़ाया महंगाई दर का अनुमान
  • खाद्य वस्तुओं के बढ़े दामों ने खराब की जेब की सेहत

देश में खुदरा महंगाई दर मार्च में 4 महीने के उच्च स्तर पर जा सकती है. 50 से अधिक अर्थशास्त्रियों के बीच किए गए एक सर्वे में इसका अनुमान जताया गया है. जानिए क्या सामने आया सर्वे में.

ईंधन और खाने की चीजों के बढ़े दाम
न्यूज एजेंसी रॉयटर्स ने 50 से अधिक अर्थशास्त्रियों के बीच 5 से 8 अप्रैल के बीच एक सर्वे किया था. इस सर्वे में सामने आया कि खाने-पीने की चीजों के दाम अैर ईंधन के महंगे होने से देश में खुदरा महंगाई की दर मार्च में बढ़ सकती है और यह 4 महीने के उच्च स्तर पर रह सकती है.

5.40% तक जा सकती है महंगाई दर
सर्वे के मुताबिक मार्च में सालाना आधार पर खुदरा महंगाई दर बढ़कर 5.40% तक रहने का अनुमान है. जबकि इसके 4.60% से 6.11% के बीच रहने की संभावना जतायी जा रही है. हालांकि 5.40% पर भी यह रिजर्व बैंक के दायरे के भीतर ही है.

रिजर्व बैंक ने भी बढ़ाया दायरा
भारतीय रिजर्व बैंक ने बुधवार को मौद्रिक नीति की घोषणा करते वक्त चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही में महंगाई के 5.2% पर रहने का अनुमान जताया है. हालांकि यह उसके लक्षित 2% से 6% के दायरे के भीतर है. भारतीय रिजर्व बैंक ने अपनी मौद्रिक नीति में रेपो दरों को 4% पर अपरिवर्तित रखा है. 

उच्च स्तर पर रही ईंधन की दरें
मार्च के दौरान देश में पेट्रोल और डीजल की दरें ऊंचे स्तर पर रहीं. इससे अन्य वस्तुओं के दाम भी बढ़े. आईएनजी में सीनियर एशिया इकोनॉमिस्ट प्रकाश सकपल ने कहा कि देश के कुछ राज्यों में कोविड के मामले बढ़ रहे हैं और लोगों के बीच लॉकडाउन का डर है. ऐसे में पैनिक बाइंग से भी महंगाई पर दबाव बढ़ने की संभावना है.

सरकार अगले हफ्ते थोक और खुदरा मुद्रास्फीति के आधिकारिक आंकड़े जारी कर सकती है.

ये भी पढ़ें:

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें