scorecardresearch
 

कोरोना संकट में अच्छी पहल, जरूरतमंदों के घर तक मुफ्त ऑक्‍सीजन कॉन्सेंट्रेटर पहुंचाएगी Ola

ओला की परोपकारी इकाई ओला फाउंडेशन ने डोनेशन प्‍लेटफॉर्म गिव इंडिया के साथ साझेदारी की है. इसके तहत उपभोक्‍ताओं को ऑक्‍सीजन कॉन्सेंट्रेटर की आपूर्ति की जाएगी. ओला एप के जरिये ये सेवा एकदम मुफ्त में उपलब्‍ध होगी. इस हफ्ते से यह सेवा बेंगलुरु से शुरू होगी.

ओला ने की अनूठी पहल (फाइल फोटो) ओला ने की अनूठी पहल (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कोरोना मरीजों के​ लिए है ऑक्‍सीजन की किल्लत
  • ऑक्‍सीजन कॉन्सेंट्रेटर है इसका एक विकल्प

ऐप आधारित कैब कंपनी ओला (Ola) ने कोरोना से जूझ रहे लोगों की मदद के लिए एक अनूठी पहल की है. कंपनी ने कहा है कि वह जरूरतमंद लोगों को उनके घर तक ऑक्‍सीजन कॉन्सेंट्रेटर (Oxygen concentrators) पहुंचाएगी. 

ओला की परोपकारी इकाई ओला फाउंडेशन ने कहा कि उसने डोनेशन प्‍लेटफॉर्म गिव इंडिया के साथ साझेदारी की है. इसके तहत उपभोक्‍ताओं को ऑक्‍सीजन कॉन्सेंट्रेटर की आपूर्ति की जाएगी. ओला एप के जरिये ये सेवा एकदम मुफ्त में उपलब्‍ध होगी. इस हफ्ते से यह सेवा बेंगलुरु से शुरू होगी.

जरूरतमंद की मदद 

शुरुआत में कंपनी ने 500 ऑक्‍सीजन कॉन्सेंट्रेटर इसके लिए जुटाए हैं. ओला और गिवइंडिया आने वाले हफ्तों में 10,000 कॉन्सेंट्रेटर के साथ इस सेवा का विस्‍तार देश के अन्‍य हिस्‍सों में भी करेगी. जब मरीज पूरी तरह से ठीक हो जाएगी तो ओला कैब कॉन्सेंट्रेटर डिवाइस को वापस लेकर उसके पास भेजगी जिस मरीज को आगे जरूरत होगी. 

क्या कहा कंपनी ने 

न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, ओला चेयरमैन और ग्रुप सीईओ भाविश अग्रवाल ने कहा, 'इस कठिन वक्‍त में हम सबको साथ आना चाहिए और अपने समाज की सेवा करनी चाहिए. इस मुश्किल वक्‍त में बहुत जरूरतमंद लोगों की मदद के लिए हमनें इस अभियान की शुरुआत की है. भारत से समय कोरोना की दूसरी लहर से जूझ रहा है और इस वजह से अधिकांश राज्‍यों में अस्‍पतालों में ऑक्‍सीजन और बिस्‍तरों की कमी हो गई है.' 

गौरतलब है कि कोरोना संकट में लोगों की मदद के लिए तमाम कॉरपोरेट कंपनियां लगातार सामने आ रही हैं. देश में रिलायंस, टाटा जैसी कंपनियां अपने फाउंडेशन के मदद से कोरोना के मरीजों के सहयोग,ऑक्‍सीजन की आपूर्ति में मदद तो कर ही रही हैं, अब विदेशी कंपनियां भी सहयोग के लिए आगे आई हैं. माइक्रोब्लॉगिंग साइट Twitter ने COVID-19 में भारत को 15 मिलियन डॉलर (लगभग 110 करोड़ रुपये) डोनेशन देने की बात कही है. 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें