scorecardresearch
 

Coal India की सहयोगी कंपनी की बिकेगी हिस्सेदारी! आ सकता है आईपीओ

कोल इंडिया Coal India Ltd अपनी एक सब्स‍िडियरी कंपनी की 10 फीसदी हिस्सेदारी बेच सकती है. इसके लिए शेयर बाजार में आईपीओ लाया जा सकता है.

कोयला उत्पादन में है कोल इंडिया का एकाध‍िकार (फोटो: Coal India) कोयला उत्पादन में है कोल इंडिया का एकाध‍िकार (फोटो: Coal India)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • विनिवेश का सरकार ने रखा प्रस्ताव
  • इस महीने बोर्ड दे सकता है मंजूरी

कोयला उत्पादन के क्षेत्र में देश में एकाधिकार रखने वाली सरकारी कंपनी कोल इंडिया (Coal India Ltd) अपनी एक सब्स‍िडियरी कंपनी CMPDIL की 10 फीसदी हिस्सेदारी बेच सकती है. इसके लिए शेयर बाजार में आईपीओ लाया जा सकता है.

गौरतलब है कि कोल इंडिया की सहायक कंपनी केंद्रीय खनन योजना एवं डिजाइन संस्थान लिमिटेड (CMPDIL) के विनिवेश का केंद्र सरकार ने ही प्रस्ताव रखा है जिसे कोल इंडिया का बोर्ड इस महीने मंजूरी दे सकता है. अगर इस प्रस्ताव को कोल इंडिया के बोर्ड से मंजूरी मिली तो इसकी  कोयला उत्पाद सब्स‍िडियरीज के विनिवेश का भी रास्ता भी खुला सकता है. 

इसी महीने होगी बोर्ड बैठक 

एक न्यूज एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार, कोल इंडिया की अगली बोर्ड बैठक इसी महीने होगी. हालांकि अभी इसका डेट फाइनल नहीं हुआ है. इस बैठक में कोल इंडिया का बोर्ड अपनी सहायक कंपनी केंद्रीय खनन योजना एवं डिजाइन संस्थान लिमिटेड (CMPDIL) में 10 प्रतिशत विनिवेश के केंद्र के प्रस्ताव को मंजूरी दे सकता है. 

आएगा आईपीओ 

CMPDIL असल में कोल इंडिया की एक इस सलाहकार फर्म है. योजना के मुताबिक इसके विनिवेश के लिए इसे शेयर बाजारों में सूचीबद्ध किया जाएगा, यानी इसका आईपीओ लाया जाएगा. 

कोयला मंत्रालय ने 23 सितंबर को लिखे एक पत्र में कोल इंडिया को सीएमपीडीआईएल की चुकता पूंजी के 10 प्रतिशत हिस्से का विनिवेश करने और उसे शेयर बाजार में सूचीबद्ध करने के लिए बोर्ड की मंजूरी लेने को कहा था. 

गौरतलब है कि इन दिनों शेयर बाजार रिकॉर्ड ऊंंचाई पर चल रहे हैं. इससे देखते हुए सरकार के लिए भी यही मुफीद लग रहा है कि विनिवेश कार्यक्रम को तेजी से आगे बढ़ाया जाए. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें