scorecardresearch
 

अगले 5 साल में सड़कों से गायब हो जाएंगी पेट्रोल गाड़ियां, नितिन गडकरी का बड़ा दावा

गडकरी ने कहा कि ग्रीन ईंधन (Green Fuels) आने वाले समय में पेट्रोल की जरूरत समाप्त कर देंगे. उन्होंने दावा किया कि कुछ सालों बाद देश में कारें ही नहीं बल्कि स्कूटर भी ग्रीन हाइड्रोजन, इथेनॉल फ्लेक्स फ्यूल, सीएनजी या एलएनजी से चलेंगे.

X
गडकरी ने एक कार्यक्रम में कही बात
गडकरी ने एक कार्यक्रम में कही बात
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पेट्रोल की जगह ले लेंगे ग्रीन ईंधन
  • ग्रीन ईंधन पर गडकरी का खास जोर

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी (Central Minister Nitin Gadkari) को इनोवेटिव आइडियाज के लिए जाना जाता है. उनकी अगुवाई में राजमार्गों के निर्माण के कई नए रिकॉर्ड बने. इसके अलावा वह सड़कों व गाड़ियों की सेफ्टी (Vehicle Safety) के साथ-साथ ग्रीन एनर्जी (Green Energy) के इस्तेमाल पर जोर देते रहते हैं. हाल ही में हाइड्रोजन से चलने वाली कार (Hydrogen Car) की सवारी कर वह चर्चा में रहे थे. अब मंत्री ने एक दावा किया है कि अगले पांच साल में भारत की सड़कों से पेट्रोल कारें गायब हो जाएंगी. उन्होंने यहां तक कह दिया कि पांच साल के बाद भारत में पेट्रोल की जरूरत ही नहीं बचेगी.

कुछ साल में ये ईंधन लेंगे पेट्रोल की जगह

गडकरी ने कहा कि ग्रीन ईंधन (Green Fuels) आने वाले समय में पेट्रोल की जरूरत समाप्त कर देंगे. उन्होंने दावा किया कि कुछ सालों बाद देश में कारें ही नहीं बल्कि स्कूटर भी ग्रीन हाइड्रोजन, इथेनॉल फ्लेक्स फ्यूल, सीएनजी या एलएनजी से चलेंगे. केंद्रीय मंत्री पिछले सप्ताह महाराष्ट्र के अकोला में एक कार्यक्रम में हिस्सा ले रहे थे, तभी उन्होंने यह बयान दिया. उन्हें अकोला में स्थित डॉ पंजाबराव देशमुख कृषि विद्यापीठ में डॉक्टर ऑफ साइंस (Doctor Of Science) की मानद उपाधि दी जा रही थी. अपने संबोधन में गडकरी ने हाइड्रोजन (Hydrogen), इथेनॉल (Ethanol) और अन्य ग्रीन ईंधनों के इस्तेमाल पर खास जोर दिया.

किसानों को नई तकनीक से कराएं अवगत

केंद्रीय मंत्री ने कहा, 'पूरे यकीन के साथ मैं ये कहना चाहता हूं कि भारत में अगले पांच साल में पेट्रोल गायब हो जाएगा. आपकी कारें और स्कूटर या तो ग्रीन हाइड्रोजन से अथवा इथेनॉल फ्लेक्स फ्यूल, सीएनजी या एलएनजी से चलेंगे. गडकरी ने कृषि क्षेत्र के शोधकर्ताओं से अगले पांच साल में सेक्टर की ग्रोथ रेट को अभी के 12 फीसदी से बढ़ाकर 20 फीसदी करने की भी अपील की. उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र के किसान काफी प्रतिभावान हैं. उन्हें नए रिसर्च और नई टेक्नोलॉजी से अवगत कराने व ट्रेन्ड बनाने की जरूरत है.

शुरू होने वाली है स्वदेशी सेफ्टी रेटिंग

गडकरी ने इससे पहले 17 जून को कहा था कि जल्दी ही इलेक्ट्रिक व्हीकल्स के दाम कम हो जाएंगे. उनका दावा था कि अगले एक साल में ही इलेक्ट्रिक व्हीकल्स के दाम पेट्रोल गाड़ियों के बराबर हो जाएंगे. उन्होंने ये भी कहा था कि सरकार डीजल और पेट्रोल के विकल्प के तौर पर फसलों के बेकार अंश से इथेनॉल बनाए जाने को बढ़ावा दे रही है. गडकरी ने पिछले महीने Bharat-NCAP यानी भारत के नए कार सेफ्टी असेसमेंट प्रोग्राम शुरू करने की जानकारी दी थी. इसके तहत कारों को क्रैश टेस्ट (Crash Test) में उनके प्रदर्शन के आधार पर अब देश में ही स्टार रेटिंग दी जाएगी. यह भारत में चलने और बिकने वाली कारों की बेहतर सेफ्टी सुनिश्चित करेगा.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें