scorecardresearch
 

Air India Handover: आज से टाटा के हवाले 'महाराजा', PM Modi से मुलाकात के बाद ऐलान

आज एअर इंडिया का मौजूदा बोर्ड इस्तीफा दे सकता है. इसके बाद बोर्ड में टाटा के नामित लोग जगह लेने वाले हैं. इस बीच कई बैंक एअर इंडिया के लिए टाटा समूह को लोन देने पर सहमत हो चुके हैं. इनमें एसबीआई और पीएनबी जैसे बैंक भी शामिल हैं.

X
पीएम से मिले टाटा संस चेयरमैन पीएम से मिले टाटा संस चेयरमैन
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पीएम मोदी से मिले टाटा संस के चेयरमैन
  • एअर इंडिया के हैंडओवर से पहले हुई मुलाकात

टाटा समूह (Tata Group) का 69 सालों का इंतजार अंतत: गुरुवार को समाप्त हो गया. टाटा संस के चेयरमैन एन चंद्रशेखरन (N. Chandrasekaran) ने औपचारिक हैंडओवर से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) से मुलाकात की. इसके बाद चंद्रशेखरन वापस एअर इंडिया हेडक्वार्टर पहुंचे, जहां हैंडओवर की औपचारिक प्रक्रिया पूरी हुई.

आज से कंट्रोल लेना हो गया शुरू

टाटा समूह ने हैंडओवर के बाद आधिकारिक बयान जारी कर कहा कि सरकार से एअर इंडिया की खरीद की प्रक्रिया पूरी हो गई है. टाटा समूह ने आज से मैनेजमेंट और कंट्रोल अपने हाथों में लेना शुरू कर दिया है. टाटा संस के चेयरमैन ने खुशी जताते हुए कहा कि उनकी कंपनी एअर इंडिया को वर्ल्ड-क्लास एअरलाइन बनाने के लिए प्रतिबद्ध है. उन्होंने एअर इंडिया के सभी कर्मचारियों का टाटा समूह में स्वागत किया.

आज हो सकता है बोर्ड का इस्तीफा

प्रधानमंत्री कार्यालय ने मुलाकात की एक तस्वीर साझा करते हुए इसकी जानकारी दी. बताया जा रहा है कि इस मुलाकात के दौरान टाटा संस के चेयरमैन ने एअर इंडिया के हैंडओवर और आगे के ऑपरेशन के बारे में प्रधानमंत्री से बातें की. आज एअर इंडिया के बोर्ड की अहम बैठक भी है. एअर इंडिया का मौजूदा बोर्ड आज इस्तीफा दे सकता है. इसके बाद टाटा के नॉमिनी बोर्ड में पुराने सदस्यों की जगह ले सकते हैं.

कैबिनेट मिनिस्टर ज्योतिरादित्य सिंधिया ने इस बारे में Tweet किया. उन्होंने कहा कि एअर इंडिया के विनिवेश की प्रक्रिया तय समय में पूरी हो गई है और यह ध्यान देने योग्य है. इससे सरकार की क्षमता और आने वाले समय में गैर-रणनीतिक क्षेत्रों का प्रभावी तरीके से विनिवेश करने के संकल्प का पता चलता है. एक अन्य Tweet में मंत्री ने रतन टाटा को टैग करते हुए बधाई दी. उन्होंने लिखा, एअरलाइन के नए मालिकों को शुभकामनाएं. मुझे भरोसा है कि उनके साये में एअर इंडिया आगे बढ़ेगी और भारत में उम्दा सिविल एविएशन इंडस्ट्री का रास्ता तैयार होगा.

पीएम के साथ मुलाकात से पहले गए एअर इंडिया हेडक्वार्टर

पीएम से मिलने से पहले टाटा संस के चेयरमैन एअर इंडिया के हेडक्वार्टर पहुंचे. एअर इंडिया हेडक्वार्टर में चंद्रशेखरन ने DIPAM सेक्रेटरी तुहिन कांत पांडेय, पूर्व एविएशन सेक्रेटरी प्रदीप सिंह खरोला और एअर इंडिया के सीएमडी विक्रम देव दत्त से मुलाकात की. पहले टाटा को आज ही एअर इंडिया का हैंडओवर किया जाना था, लेकिन बाद में जानकारी सामने आई कि यह काम अब कल के लिए टल सकता है. हालांकि अब कयासों के बादल छंट चुके हैं.

टाटा को लोन देने के लिए तैयार ये बैंक

इससे पहले एअर इंडिया के लिए टाटा समूह को लोन देने पर कई बैंकों का एक समूह सहमत हो गया. एसबीआई की अगुवाई वाले इस समूह में पंजाब नेशनल बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा और यूनियन बैंक ऑफ इंडिया भी शामिल हैं. ये बैंक टर्म लोन के साथ ही ऑपरेटिंग कैपिटल के लिए भी लोन देने को तैयार हैं. यह लोन टाटा समूह की Talace Private Limited को दिया जाएगा, जिसने एअर इंडिया की नीलामी में सफलता हासिल की है.

टाटा ने इस सर्विस से कर दी शुरुआत

टाटा समूह ने आज से एअर इंडिया के डेली ऑपरेशन में योगदान शुरू कर दिया है. कंपनी ने इसकी शुरुआत चार फ्लाइट में Enhanced Meal Service के साथ की है. बाद में यह सर्विस अन्य उड़ानों में भी शुरू की जाएगी. अभी यह चार उड़ानों AI864, AI687, AI945 और AI639 में शुरू हुई है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें