scorecardresearch
 
बिज़नेस न्यूज़

यूपी में निवेश के लिए मोर्चे पर खुद CM योगी, लखनऊ में मुकेश अंबानी से होगी मुलाकात

उद्योगपतियों के संपर्क में योगी आदित्यनाथ
  • 1/6

उत्तर प्रदेश में रोजगार उत्पन्न करने के लिए उद्योग-धंधे लगाने की जरूरत है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ खुद उत्तर प्रदेश में निवेश को लेकर लगातार देश के बड़े उद्योगपतियों के संपर्क में हैं. इसी कड़ी में मुख्यमंत्री से देश के बड़े उद्योगपति गौतम अडानी, कुमार मंगलम बिड़ला और मुकेश अंबानी ने फोन पर बात की.

फोन पर उद्योगपतियों से बात
  • 2/6

सरकार का दावा है कि इन तीनों उद्योगपतियों ने उत्तर प्रदेश में निवेश को लेकर इच्छा जताई है. इसी को लेकर इन्होंने सीएम योगी आदित्यनाथ से फोन पर बात की. जानकारी के मुताबिक विदेश से वापस आने की वजह से रिलायंस इंडस्ट्रीज के प्रमुख मुकेश अंबानी क्वारनटीन में है, इसलिए व्यक्तिगत मुलाकात नहीं हो पाई. 

मुकेश अंबानी आएंगे लखनऊ
  • 3/6

निवेश पर आगे की चर्चा करने के लिए मुकेश अंबानी मुख्यमंत्री योगी से मिलने लखनऊ आएंगे, इस मुलाकात के दौरान यूपी में निवेश पर विस्तार से चर्चा होगी. यूपी सरकार का कहना है कि इसके अलावा करीब एक दर्जन बड़े बिजनेस ग्रुप्स से अलग-अलग क्षेत्रों में निवेश करने को लेकर सहमति बनी है.
 

निवेश के लिए सकारात्मक माहौला देने का भरोसा
  • 4/6

वहीं उत्तर प्रदेश सरकार ने उद्योगपतियों को निवेश के लिए सकारात्मक माहौला देने का भरोसा दिया है. इसके लिए सरकार जल्द ही विशेष सपोर्ट सिस्टम तैयार करेगी, ताकि निवेशकों को किसी तरह की दिक्कत न हो. यही नहीं, निवेशकों को सिंगल विंडो क्लीयरेंस की सुविधा देने पर भी सरकार का फोकस है. 

निवेश को लेकर योगी आदित्यनाथ गंभीर
  • 5/6

बता दें, अपने दो दिवसीय मुंबई दौरे पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने अडानी एग्री फ्रेश लिमिटेड के एमडी प्रणव अडानी से मुलाकात की. दरअसल, उत्तर प्रदेश में फिल्म सिटी निर्माण को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ बेहद गंभीर हैं और इसलिए मुंबई दौरे के पहले दिन उन्होंने इस प्रोजेक्ट के सिलसिले में बॉलीवुड के दिग्गजों से मुलाकात की. 

कोरोना संकट के दौरान भी यूपी में 45,000 करोड़ का निवेश
  • 6/6

उत्तर प्रदेश में पिछले दो साल में इनवेस्टर्स समिट के दौरान और अन्य तरह के 4.28 लाख करोड़ के निवेश प्रस्ताव प्राप्त हुए और अब करीब 43 फीसदी परियोजनाएं अमल में हैं. यही नहीं, कोरोना संकट के दौरान भी यूपी में 45,000 करोड़ रुपये का नया निवेश प्रस्ताव आया है. (शिवेंद्र श्रीवास्तव की रिपोर्ट)