scorecardresearch
 
बिज़नेस न्यूज़

बेफिक्र होकर लगवाएं कोरोना वैक्सीन, साइड इफेक्ट पर बीमा कंपनियां उठाएंगी खर्च!

कोरोना टीका लगाने से न घबराएं
  • 1/6

कोरोना महामारी की दूसरी लहर से देशभर में लोग घबराए हुए हैं. देश में 8 करोड़ से ज्यादा लोगों को कोरोना की वैक्सीन लग चुकी है. अभी 45 साल से ज्यादा उम्र वालों को वैक्सीन लगाई जा रही है. इसलिए वैक्सीन लगवाने से पीछे नहीं हटें. दरअसल कुछ लोग कोविड-19 के टीकाकरण को लेकर भ्रम की स्थिति में हैं. (Photo: File)

इंश्योरेंस कंपनी उठाएगी खर्चा
  • 2/6

कोरोना का टीका लगने के बाद अगर आपकी तबीयत खराब हुई और आप अस्पताल में भर्ती हुए तो इसका खर्च हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी उठाएगी. भारतीय बीमा नियामक एवं विकास प्राधिकरण (IRDAI) ने सभी बीमा कंपनियों को इस बाबत आदेश जारी कर दिया है. (Photo: File)

 IRDAI का बीमा कंपनियों को सख्त आदेश
  • 3/6

दरअसल, IRDAI ने एक बयान में कहा, 'यह संदेह जताया गया है कि अगर कोरोना की वैक्सीन लगाने के बाद किसी तरह के रिएक्शन से अस्पताल में भर्ती होना पड़े तो क्या हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी द्वारा कवर किया जाएगा?' जिसपर इरडा का आदेश है कि कोविड-19 का टीका लगने के बाद प्रतिकूल असर से अस्पताल में भर्ती होने पर हेल्थ पॉलिसी होल्डर्स का खर्च कंपनियां उठाएंगी. (Photo: File)

अन्य बीमारी की तरह इसका भी प्रावधान
  • 4/6

गौरतलब है कि बीमा नियामक ने हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी में कोविड-19 के इलाज को शामिल कराया था, लेकिन इसमें टीके का खर्च शामिल नहीं किया गया था. लेकिन अब IRDAI ने अपने नोटिफिकेशन में साफ कर दिया है कि टीकाकरण के बाद रिएक्शन की वजह से किसी को अस्पताल में भर्ती होने पर उसे किसी अन्य बीमारी की तरह माना जाएगा और इसका खर्च बीमा कंपनी द्वारा कवर किया जाएगा. (Photo: File)

कोरोना पॉलिसी के बारे में
  • 5/6

आम बीमा के अलावा कोरोना के चलते अस्पताल खर्चों को कवर करने के लिए दो स्पेशल बीमा योजना है. एक है कोरोना कवच (Corona Kavach) पॉलिसी जिसे सिर्फ जनरल और हेल्थ इंश्योरेंस कंपनियां ऑफर करती हैं. जबकि दूसरी कोरोना रक्षक (Corona Rakshak) पॉलिसी जिसे कोई भी बीमा कंपनी ऑफर कर सकती है. (Photo: File)

फैमिली फ्लोटर की भी सुविधा
  • 6/6

आप कोरोना कवच पॉलिसी को इंडिविजुअल और फैमिली फ्लोटर के आधार पर ले सकते हैं. जबकि कोरोना रक्षक सिर्फ इंडिविजुअल पॉलिसी है. कोरोना से जुड़े बीमा खरीदने के लिए आप किसी भी बीमा कंपनी से संपर्क कर सकते हैं. (Photo: File)