scorecardresearch
 

‘हलवा’ परंपरा के साथ शुरू हुई बजट दस्तावेज की छपाई

लंबे समय से चली आ रही परंपरा के साथ ही शुक्रवार को बजट दस्तावेजों की छपाई शुरू हो गई. इसकी अगुवाई केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने की.

X
अरुण जेटली ने हलवा समारोह में लिया हिस्सा अरुण जेटली ने हलवा समारोह में लिया हिस्सा

शुक्रवार को 'हलवा' समारोह के साथ ही बजट दस्तावेजों की छपाई शुरू हो गई. इस दौरान नॉर्थ ब्लॉक कार्यालय में वित्त मंत्री अरुण जेटली और वित्त राज्यमंत्री जयंत सिन्हा भी मौजूद थे.

कर्मचारियों को बांटा जाता है हलवा
लंबे समय से चली आ रही परंपरा के अनुसार एक बड़ी कड़ाही में हलवा तैयार किया जाता है और उसे मंत्रालय के कर्मचारियों के बीच बांटा जाता है. इस मौके पर बजट की तैयारियों में शामिल वित्त सचिव रतन वाटल, राजस्व सचिव हसमुख अधिया, आर्थिक मामलों के सचिव और मंत्रालय के अन्य अधिकारी और कर्मचारी मौजूद थे.

परंपरागत हलवा बांटने के बाद बजट बनाने और छपाई प्रक्रिया से जुड़े बड़ी संख्या में अधिकारियों और सहायक कर्मचारियों को मंत्रालय में ही रहना पड़ता है. लोकसभा में बजट पेश होने तक उनका अपने परिवारों से भी संपर्क नहीं रहता. उन्हें अपने नजदीकी लोगों, रिश्तेदारों से भी फोन या ई-मेल वगैरह के जरिए संपर्क करने की अनुमति नहीं होती.

 

हालांकि वित्त मंत्रालय में बेहद वरिष्ठ अधिकारी इस दौरान अपने घर जा सकते हैं. यह राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) सरकार का दूसरा पूर्ण बजट होगा. वित्त मंत्री 29 फरवरी को बजट पेश करेंगे. करीब 100 अधिकारी बजट छापने की प्रक्रिया से जुड़े हैं और वे 29 फरवरी को बजट पेश होने तक नार्थ ब्लाक में ही ‘बंद’ रहेंगे. यह बजट को गोपनीय रखने के उपायों का हिस्सा है. बता दें कि पहला आम बजट 26 नवंबर 1947 को पेश किया गया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें