scorecardresearch
 

इस बार बजट में बढ़ सकता है सर्विस टैक्स, लेकिन नहीं बढ़ेगी महंगाई की टेंशन

इस बार बजट में सरकार सर्विस टैक्स बढ़ा सकती है. अभी यह 14.5 फीसदी है, जिसे बढ़ाकर 16 फीसदी किए जाने की पूरी संभावना है. लेकिन आपको यह जानकर हैरत होगी कि सर्विस टैक्स का बढ़ना बुरी खबर नहीं, बल्कि अच्छी खबर साबित हो सकता है.

X
बजट सत्र में बढ़ सकता है सर्विस टैक्स बजट सत्र में बढ़ सकता है सर्विस टैक्स

इस बार बजट में सरकार सर्विस टैक्स बढ़ा सकती है. अभी यह 14.5 फीसदी है, जिसे बढ़ाकर 16 फीसदी किए जाने की पूरी संभावना है. लेकिन आपको यह जानकर हैरत होगी कि सर्विस टैक्स का बढ़ना बुरी खबर नहीं, बल्कि अच्छी खबर साबित हो सकता है. क्योंकि इससे महंगाई बढ़ने के बजाय कम ही होगी. दरअसल सरकार सर्विस टैक्स के लिए कारोबार की सीमा बढ़ाने पर भी विचार कर रही है.

ऐसे मिलेगा फायदा
अभी सालाना 10 लाख का कारोबार होने पर सर्विस टैक्स देना होता है. उम्मीद है कि बजट में इसे बढ़ाकर 25 लाख कर दिया जाएगा. मतलब एक झटके में ब्यूटी पार्लर, छोटे रेस्टोरेंट, ट्रैवेल एजेंट, केबल ऑपरेटर, ड्राई क्लीनर जैसे कई छोटे कारोबारी टैक्स के दायरे से बाहर हो जाएंगे. इन सभी को सर्विस टैक्स चुकाने, उसका हिसाब-किताब रखने और टैक्स अधिकारियों के भ्रष्टाचार से छुटकारा मिल जाएगा. जाहिर है इसका सीधा असर इन सेवाओं की कीमत पर पड़ेगा.

खरीददारों और कारोबारियों का बोझ होगा कम
दरअसल सरकार टैक्स की दरों को धीरे-धीरे गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स यानी जीएसटी के लेवल पर लाने में जुटी है. जीएसटी 18 से 20 फीसदी रखा जाना है. नए टैक्स सिस्टम में कई दूसरे सामान और सेवाएं भी टैक्स के दायरे में आ जाएंगे, जिससे केंद्र और राज्य सरकारों का टैक्स कलेक्शन भी बढ़ेगा और आम खरीदारों और छोटे कारोबारियों पर बोझ भी नहीं पड़ेगा. सर्विस टैक्स की सीमा बढ़ाकर 25 लाख करने की वजह भी जीएसटी ही है. क्योंकि जीएसटी में भी यही दर होने की उम्मीद है. इसलिए इस बार बजट में अगर वित्त मंत्री सर्विस टैक्स बढ़ाने का एलान करें तो घबराने की बात नहीं है. हो सकता है कि भाषण की अगली लाइन में ही वो बताएं कि अब 25 लाख से ज्यादा सालाना बिजनेस पर ये टैक्स लगेगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें