scorecardresearch
 

Tata Nexon: पेट्रोल वाली या इलेक्ट्रिक, कौन सी कार पड़ती है सस्ती, 3 प्वाइंट में समझिए

अगर आप इस बात को लेकर कंफ्यूज हैं कि पेट्रोल गाड़ी और इलेक्ट्रिक गाड़ी में से क्या खरीदें. दोनों में से कौन सी गाड़ी सस्ती पड़ती है. तो ये खबर आपके काम की हो सकती हैं. यहां हम आपको बताने जा रहे हैं कि देश की सबसे ज्यादा बिकने वाली इलेक्ट्रिक कार Tata Nexon EV और पेट्रोल वैरिएंट Tata Nexon की कॉस्टिंग क्या बैठती है.

X
सस्ती पड़ती है Tata Nexon EV? सस्ती पड़ती है Tata Nexon EV?
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दोनों की कीमत में करीब 7 लाख रुपये का अंतर
  • Nexon EV सिंगल चार्ज में जाती है 250-300km

अगर आप इस बात को लेकर कंफ्यूज हैं कि पेट्रोल गाड़ी और इलेक्ट्रिक गाड़ी में से क्या खरीदें. दोनों में से कौन सी कार सस्ती पड़ती है. तो ये खबर आपके काम की हो सकती हैं. यहां हम आपको बताने जा रहे हैं कि देश की सबसे ज्यादा बिकने वाली इलेक्ट्रिक कार Tata Nexon EV और पेट्रोल वैरिएंट Tata Nexon की कॉस्टिंग क्या बैठती है...

इस बात को हम दोनों Nexon के बेसिक वैरिएंट से समझने की कोशिश करेंगे. इलेक्ट्रिक कैटेगरी में Tata Nexon EV XM और पेट्रोल कैटेगरी में Tata Nexon XE Petrol सबसे बेसिक मॉडल हैं. 

दोनों की कीमत में अंतर

Tata Nexon के पेट्रोल वर्जन की कीमत दिल्ली में 7.30 लाख रुपये से शुरू होती है. जबकि Nexon EV की प्राइस 14.24 लाख रुपये से स्टार्ट होती है. इस तरह दोनों की कीमत में करीब 7 लाख रुपये का अंतर है. ऐसे में खरीदने के लिहाज से निश्चित तौर पर पेट्रोल कार सस्ती है. लेकिन कार खरीदने का खर्च एक बार होता है, जबकि पेट्रोल और मेंटिनेंस कॉस्ट आपको बार-बार लगानी होती है. 

चलाने पर आने वाला खर्च

आम तौर पर कोई पेट्रोल कार एक लीटर में औसतन 15 से 20 किलोमीटर का माइलेज देती है. Tata Nexon के बारे में कंपनी का दावा है कि ये एक लीटर में 17 किमी से अधिक दूर जाती है. अब मान लें कि ये औसत 15 किमी का माइलेज देती है तो देश में अभी अधिकतर हिस्सों में पेट्रोल की कीमत 90 रुपये से ऊपर है, तो Nexon Petrol से 100 किलोमीटर जाने का खर्च करीब 600 रुपये आएगा. 

वहीं Tata Nexon EV में 30.2kWh की बैटरी है. ये 60 मिनट में लगभग 80% चार्ज हो जाती है. वहीं इसके बारे में कंपनी का दावा है कि ये सिंगल चार्ज में 250 से 300 किमी जाती है. अब देश के अलग-अलग राज्यों में बिजली अलग-अलग कीमत के हिसाब से देखें तो इसे फुल चार्ज करने का खर्च करीब 300 रुपये बैठता है. ऐसे में इसे 100km चलाने का खर्च लगभग आधा बैठेगा.

मेंटिनेंस कॉस्ट का अंतर

आम तौर पर कार कंपनियां पेट्रोल और डीजल कार पर अधिकतम 5 साल की सर्विस वारंटी देती हैं. जबकि Tata Nexon EV XM पर कंपनी 8 साल की सर्विस वारंटी दे रही है. इस तरह सर्विस में भी आपकी बचत है.

वहीं इलेक्ट्रिक व्हीकल की सर्विसिंग कॉस्ट पेट्रोल या डीजल कार से 60% तक कम पड़ती है.  इस तरह अगर देखा जाए तो पेट्रोल कार खरीदना भले इलेक्ट्रिक कार की तुलना में सस्ता पड़े. लेकिन ईंधन, सर्विस और ओनरशिप कॉस्ट को देखें तो पांच साल में आपकी एक बड़ी बचत होने उम्मीद है.

ये भी पढ़ें: 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें