scorecardresearch
 
ऑटो न्यूज़

Hyundai के भारत में 25 साल पूरे, जानें- कंपनी की कौन-सी थी पहली कार

Hyundai के भारत में 25 साल पूरे
  • 1/8

कार निर्माता कंपनी हुंडई मोटर ने भारत में अपने 25 साल पूरे कर लिए हैं. पिछले 25 वर्षों में हुंडई ग्राहकों का विश्वास जीतने में सफल रहा है. आज भारतीय बााजार में हुंडई की मजबूत पकड़ है. कई गाड़ियां वर्षों से ग्राहकों की पसंद बनी हुई है. कंपनी सिल्वर जुबली मना रही है. (Photo: File)

सितंबर-1998 से प्रोडक्शन शुरू
  • 2/8

दरअसल, दक्षिण काोरिया की कंपनी हुंडई मोटर की साल 1996 में भारत में एंट्री हुई थी. हुंडई मोटर इंडिया लिमिटेड (HMIL) की नींव 1996 को तमिलनाडु में श्रीपेरम्बुदुर के इरुंगट्टुकोट्टई में रखी गई थी. यही नहीं, हुंडई का दक्षिण कोरिया से बाहर पहला प्लांट भारत में लगा था. कंपनी ने भारत प्रोडक्शन सितंबर-1998 में शुरू किया था. (Photo: File)

हुंडई की भारत पहली कार सैंट्रो
  • 3/8

हुंडई की भारत में पहली कार सैंट्रो थी, जो आज भी ग्राहकों की पसंद बनी हुई है. भारत में पहली कार के रूप में सैंट्रो हैचबैक एक MPFI इंजन के साथ विकसित की गई थी. कंपनी का भारत में सैंट्रो के साथ साल 1998 में आगाज शानदार रहा था, और फिर एक के बाद एक शानदार कारें कंपनी ने भारतीय बाजार में उतारीं. (Photo: File)

 90 लाख से ज्यादा कारों का प्रोडक्शन
  • 4/8

उसके बाद कंपनी की तरफ से हुंडई i10 और i20 ने भारत में मोर्चा संभाला, फिर क्रेटा की एंट्री से मिड-साइज एसयूवी सेगमेंट कंपनी ने अपना दबदबा बना लिया. साल 2020 में हुंडई क्रेटा सबसे ज्यादा बिकने वाली मिड-साइज SUV रही. पिछले 25 साल में हुंडई भारत में 90 लाख से ज्यादा कार बनाने में सफल रही है. (Photo: File)

 17.4 फीसदी पर हुंडई का कब्जा
  • 5/8

साल 2020 में हुंडई का भारतीय कार बाजार में करीब 17.4 फीसदी हिस्से पर कब्जा रहा. इसके आगे केवल मारुति सुजुकी कंपनी है. हुंडई ने देश भर में अपनी पहुंच को लगातार विस्तार दिया है और फिलहाल भारत में इसके 1,154 बिक्री आउटलेट और 1,298 सर्विस स्टेशन हैं. कंपनी ने भारत में 4 बिलियन डॉलर से अधिक का निवेश किया है. (Photo: File)

यात्री कारों का सबसे बड़ा निर्यातक
  • 6/8

हुंडई भारत से यात्री कारों का सबसे बड़ा निर्यातक है, भारत में निर्मित कारों को कंपनी 88 देशों में निर्यात कर रहा है. 2020 तक कंपनी ने 30 लाख से ज्यादा कारें एक्सपोर्ट की हैं. हुंडई ने 2008 में 5 लाख निर्यात का आंकड़ा पार कर लिया था. 2010 में एक्सपोर्ट का आंकड़ा बढ़कर 10 लाख और 2014 में बढ़कर 20 लाख हो गया. (Photo: File)
 

हुंडई का प्लांट 540 एकड़ में फैला
  • 7/8

हुंडई का प्लांट 540 एकड़ में फैला है और सालाना 7.5 लाख यूनिट के प्रोडक्शन की क्षमता है. कंपनी 2020 में SUV सेलिंग करने में नंबर-1 पर रही. फिलहाल कंपनी की पोर्टफोलियो में कई शानदार कारें हैं. कंपनी भारत में Santro, Grand i10, Grand i10 Nios, i20, Aura, Verna, Elantra, Venue, Creta, Tucson और Kona Electric कारें बेचती हैं. (Photo: File)

कोना इलेक्ट्रिक कार
  • 8/8

वहीं नई पीढ़ी की ग्रैंड आई 10 NIOS, क्रेटा, आई 20 जैसी कारें हैं. वहीं कॉम्पैक्ट एसयूवी सेगमेंट में वेन्यू की मजबूत पकड़ है. इलेक्ट्रिक सेगमेंट में भी कंपनी फोकस कर रही है. जिसमें कोना इलेक्ट्रिक पहली जीरो-एमिशन एसयूवी है. (Photo: File)