scorecardresearch
 
ऑटो न्यूज़

जैसा काम वैसा बन जाएगा ये इलेक्ट्रिक स्कूटर, कर सकते हैं पुर्जा-पुर्जा अलग!

कस्टमाइज हो सकता है ये स्कूटर
  • 1/7

बहुत जल्द एक इंडियन इलेक्ट्रिक व्हीकल स्टार्टअप कंपनी ऐसा इलेक्ट्रिक स्कूटर लॉन्च करने जा रही है, जिसे आप अपनी जरूरत के हिसाब से कस्टमाइज सकते हैं. इसका डिजाइन मॉड्यूलर है और इसका पुर्जा-पुर्जा अलग हो सकता है. जानें इसके बारे में...

रख सकते हैं टैबलेट
  • 2/7

रख सकते हैं टैबलेट
इस स्कूटर को तैयार किया है Dispatch Vehicles ने. इस स्कूटर की खास बात ये है कि इसके हैंडल बार में इतनी जगह दी गई है जहां आप सेफ्टी के साथ अपना टैबलेट तक रख सकते हैं. इस तरह इस इलेक्ट्रिक स्कूटर को कनेक्टेड व्हीकल में कन्वर्ट कर सकते हैं.

होगा पुर्जा-पुर्जा अलग
  • 3/7

होगा पुर्जा-पुर्जा अलग
इस स्कूटर का कंपनी ने जो टीजर रिलीज किया है, उससे पता चलता है कि इसका एक-एक पुर्जा अलग हो सकता है. इसमें आगे के काउल को चेंज किया जा सकता है. वहीं पिछली सीट की जगह पर किसी भी तरह का स्टोरेज लगाया जा सकता है. 
 

पुलिस से लेकर रेस्टोरेंट तक के काम का
  • 4/7

पुलिस से लेकर रेस्टोरेंट तक के काम का
इस स्कूटर के टीजर में दिखाया गया है कि कैसे इसे अलग-अलग तरह के डिलीवरी बिजनेस के लिए कस्टमाइज किया जा सकता है. साथ ही पुलिस के सायरन से लेकर किसी रेस्टोरेंट या रेहड़ी की छोटी किचन तक को सेट-अप किया जा सकता है.

मिलेगी स्वैपेबल बैटरी
  • 5/7

मिलेगी स्वैपेबल बैटरी
इस स्कूटर में स्वैपेबल बैटरी होगी. इसे फ्रंट सीट के नीचे प्लेस किया गया है. जबकि बैटरी को स्कूटर में लगे हुए चार्ज भी किया जा सकेगा. इसमें एलईडी हेडलैंप को सामने वाले पहिए के मड-गार्ड पर लगाया गया है. साथ ही इस स्कूटर में डिस्क ब्रेक होंगे, ऐसी भी झलक दिखती है.

दुनिया का पहला मॉड्यूलर ई-स्कूटर
  • 6/7

दुनिया का पहला मॉड्यूलर ई-स्कूटर
इस स्कूटर को लेकर कंपनी का दावा है कि ये दुनिया का पहला ऐसा मॉड्यूलर स्कूटर (World's First Modular e-Scooter) है. कंपनी इसे अगले साल तक इंडियन मार्केट में लॉन्च कर सकती है. यह एक मेड इन इंडिया स्कूटर होगा. 

कॉन्ट्रेक्ट पर बनेगा स्कूटर
  • 7/7

कॉन्ट्रेक्ट पर बनेगा स्कूटर
कंपनी के को-फाउंडर रजित आर्या ने कहा कि इस स्कूटर की मैन्युफैक्चरिंग के लिए कंपनी ने एक कॉन्ट्रैक्ट किया है. इस कंपनी की मैन्यूफैक्चर कैपेसिटी  60 लाख स्कूटर सालाना बनाने की है. आर्या का कहना है कि ये स्कूटर लास्ट माइल कनेक्टिविटी को एक नई पहचान देगा.