scorecardresearch
 

क्या है फार्म मशीनरी बैंक योजना? उत्तर प्रदेश में इन कृषि यंत्रों पर 80 प्रतिशत तक की सब्सिडी

Farm Machinery Bank Scheme: केंद्र सरकार गांव-गांव फार्म मशीनरी बैंक खोलने की योजना पर काम कर रही है. इसी के तहत उत्तर प्रदेश सरकार ने आवेदन मांगे हैं. इस योजना का उद्देश्य छोटे और सीमांत किसानों को कृषि यंत्र खरीदने में मदद करना है.

Farm machinery bank scheme( File image) Farm machinery bank scheme( File image)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • किसानों को 80 प्रतिशत तक की सब्सिडी पर मिल रहे कृषि यंत्र
  • फार्मर मशीनरी सोल्यूशन ऐप पर भी जानकारी

आर्थिक रूप से सक्षम न होने की वजह से किसान अक्सर कृषि संबधित यंत्र नहीं खरीद पाते हैं. इसका परिणाम ये होता है कि किसान अपना उत्पादन स्तर नहीं बढ़ा पाते. ऐसे में केंद्र और राज्य सरकारों की तरफ से किसानों को सहायता प्रदान करने के लिए कई योजनाएं चलाई जा रही हैं. जिसका लाभ उठा कर किसान अपनी स्थिति बेहतर कर सकते हैं. ऐसी ही एक योजना फार्म मशीनरी बैंक (https://agrimachinery.nic.in/) केंद्र सरकार के द्वारा चलाई जा रही है. जिसके तहत किसानों कों 80 प्रतिशत तक की सब्सिडी पर कृषि यंत्र दिए जाते हैं.

क्यों हुई फार्म मशीनरी बैंक की योजना की शुरुआत?

भारत सरकार का मुख्य लक्ष्य आने वाले समय में किसानों की आय दोगुनी करने का है. इसके लिए सबसे बड़ी जरूरत है कि छोटे और सीमांत किसान भी खेती की नई तकनीकों और नई कृषि योजनाएं का उपयोग करें. किसान सब्सिडी यंत्र खरीद सकें, इसके लिए केंद्र सरकार राज्य सरकारों के साथ मिलकर ग्राम पंचायतों में CHC सेंटर की सहायता से फार्म मशीनरी बैंक की स्थापना पर काम कर रही है.

उत्तर प्रदेश में इन यंत्रों पर सरकार दे रही है सब्सिडी

फार्म मशीनरी बैंक योजना के तहत उत्तर प्रदेश में पैडी स्ट्राचापर, श्रेडर, मल्चर, सब मास्टर, रोटरी स्लेशर, हाइड्रोलिक रिवर्सेबल एम.बी. पलाऊ, सुपर सीडर, बेलर, सुपर स्ट्रा, मैनेजमेंट सिस्टम, जरो टिल सीड कम फर्टीड्रिल, हैप्पी सीडर, स्ट्रा रेक, क्रांप रीपर व रीपर कंबाडर सहित खेती में उपयोग होने वाले कई अन्य कृषि यंत्रों को भी सब्सिडी पर उपलब्ध कराया जा रहा है.

Farm machinery solution app
Farm machinery solution app

इन सब्सिडी यंत्रों को कस्टम हायरिंग सेंटर पर उपलब्ध कराया जाता है. ऐसे में किसान भाई केंद्र सरकार का CHC Farmer Machinery solutions  ऐप को डाउनलो़ड कर सकते हैं. इस ऐप पर आप अपने मोबाइल नंबर को अंकित कर ओटीपी के माध्यम से लॉग इन कर सकते हैं. लॉग इन करने के बाद अगले पेज पर सेलेक्ट इम्पलीमेंट का ऑप्शन सामने आएगा. यहां पर क्लिक करते ही सब्सिडी पर दी जा रही सारे यंत्रों की लिस्ट सामने आ जाएगी. साथ ही इस ऐप पर अपना क्षेत्र अंकित करने के बाद वहां के सारे नजदीकी कस्टम हायरिंग सेंटर की भी लिस्ट सामने आ जाएगी. इस जानकारी का उपयोग कर किसान भाईयों को यंत्रों और उसके विक्रय केंद्र के बारे में आसानी से जानकारी मिल सकती है.

Step to know about subsidy over farm machinery
Process to know about subsidy over farm machinery

एक सिस्टम से दिनभर में अधिकतम 5 टोकन कर सकते हैं जनरेट

किसान इस योजन का लाभ पारदर्शी किसान सेवा योजना पोर्टल (www. upagriculture.com) पर पंजीकरण कर टोकन जनरेट कर सकते हैं. लेकिन खास बात ये है कि एक दिन में एक मोबाइल से अधिकतम 5 टोकन ही जनरेट किए जा सकते हैं. योजना से संबधित अन्य जानकारी आप (https://agrimachinery.nic.in/) यहां जाकर पता कर सकते हैं.


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें