scorecardresearch
 

धान की फसल के लिए संजीवनी साबित हुई मॉनसून की बारिश, किसानों को होगा लाभ

फतेहाबाद में मॉनसून की पहली बारिश होने के बाद से धान की खेती करने वाले किसानों को काफी लाभ हुआ है. धान की फसल को काफी मात्रा में पानी की जरूरत होती है, ऐसे में बारिश होने से किसानों को आर्थिक लाभ होगा.

फतेहाबाद में हुई मॉनसून की बारिश से किसानों को लाभ फतेहाबाद में हुई मॉनसून की बारिश से किसानों को लाभ
स्टोरी हाइलाइट्स
  • फतेहाबाद में सोमवार से हो रही मॉनसून की बारिश
  • धान की खेती करने वाले किसानों को होगा आर्थिक लाभ

देश के कई हिस्सों में मॉनसून (Monsoon) का इंतजार किया जा रहा है. इसी बीच कई राज्यों में मॉनसून की एंट्री हो चुकी है. मॉनसून की पहली बारिश के मेघा फतेहाबाद में जमकर बरस रहे हैं. धान (Rice) उत्पादन वाले फतेहाबाद के रतिया, कुलां और टोहाना इलाके में अच्छी बरसात हुई है. 

लंबे समय से खेतों में फसलों पर बना हुआ सिंचाई संकट बरसात से खत्म हो गया है और बारिश के कारण धान की बुआई करने वाले किसान काफी खुश हैं. किसान जग्गी सिंह ने बताया कि प्रचंड गर्मी और बिजली सप्लाई पर्याप्त रूप से नहीं मिलने के कारण सिंचाई का कार्य प्रभावित था और फसलें सूख रही थी. हमारा इलाका धान उत्पादन वाला है और यहां पर धान की फसल को काफी मात्रा में पानी की जरूरत होती है.

 लंबे समय से फसलें सूखे की मार झेल रही थी, लेकिन आज भगवान की कृपा से इलाके में अच्छी बरसात हुई है. खेत पानी से लबालब भर गए हैं जो की फसलों के लिए काफी लाभदायक है. सिचाई के लिए बरसाती मिलने के बाद किसानों को खाद और दवाइयों की बचत होती है. इससे किसानों को आर्थिक लाभ होगा.  

वहीं, महिला किसान बीबो रानी ने बताया कि पिछले काफी समय से 42 डिग्री के पार तापमान बना हुआ था और भीषण गर्मी के कारण पशु, पक्षी और खेत त्राहिमाम थे. लेकिन, आज काफी अच्छी बरसात हुई है.

मॉनसून की पहली बारिश से काफी हद तक लोगों को राहत मिली है. खेतों में भी फसलों को काफी लाभ पहुंचेगा. पेट्रोल-डीजल काफी महंगे हो चुके हैं और ऐसी स्थिति में किसान पर आर्थिक बोझ सिंचाई के लिए बढ़ रहा था लेकिन अब बरसात के कारण किसान को आर्थिक बचत होगी.

(फतेहाबाद से बजरंग कुमार की रिपोर्ट)

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें