scorecardresearch
 

UP Farmers: यूपी के किसानों की बल्ले-बल्ले, इस योजना के तहत मिले 3 हजार करोड़ रुपये

Uttar Pradesh Farmers, PM Fasal Bima Yojana: 2016-17 में शुरू की गई, पीएम फसल बीमा योजना (PMFBY) किसानों की भागीदारी के मामले में विश्व स्तर पर सबसे बड़ी फसल बीमा योजना है और प्रीमियम के मामले में तीसरी सबसे बड़ी योजना है.

X
PM Fasal Bima Yojana PM Fasal Bima Yojana
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 2016-17 में शुरू हुई थी ये योजना
  • बड़ी संख्या में किसान इस योजना से जुड़े

UP Farmers, PM Fasal Bima Yojana: किसानों की मदद और उनकी आय बढ़ाने के लिए केंद्र सरकार समय-समय पर योजनाएं बनाती है. ऐसी ही एक सरकारी योजना है पीएम फसल बीमा योजना. इस योजना के तहत उत्तर प्रदेश के 27.59 लाख किसानों के खातों में 3074.6 करोड़ रुपये का मुआवजा जमा किया गया है. सरकार की इस योजना से बड़ी संख्या में राज्य के किसान जुड़े हुए हैं. 

केवल उत्तर प्रदेश ही नहीं, बल्कि देशभर के अलग-अलग राज्यों से किसान बड़ी संख्या में इस योजना से जुड़े हुए हैं. इस योजना के तहत किसानों को सरकार द्वारा बारिश-आंधी, कीटों और अन्य प्राकृतिक आपदाओं से फसल की बर्बादी पर मुआवजा दिया जाता है. फसल बीमा योजना के तहत खरीफ 2016 से खरीफ 2021 तक हर साल देश भर से लगभग 5.5 करोड़ किसानों ने फसल बीमा के लिए आवेदन किया और 21 हजार करोड़ से अधिक प्रीमियम जमा किया है. इस योजना के तहत किसानों को बीमा दावे के रूप में 1.15 लाख करोड़ से अधिक का भुगतान मिला है. 

बता दें, 2016-17 में शुरू की गई, पीएम फसल बीमा योजना (PMFBY) किसानों की भागीदारी के मामले में विश्व स्तर पर सबसे बड़ी फसल बीमा योजना है और प्रीमियम के मामले में तीसरी सबसे बड़ी योजना है. मालूम हो, इस योजना में कर्ज लेकर खेती करने वाले किसानों को अनिवार्य रूप से शामिल किया गया है. बाकी किसानों ने स्वेच्छा से अपना बीमा करवाया है. 

यूपी सरकार के एक प्रवक्ता की मानें तो योगी सरकार के कार्यकाल में कुल 27.59 लाख किसानों को 3074.60 करोड़ रुपये का मुआवजा दिया गया है. इसमें खरीफ सीजन 2021 में 7.02 लाख किसानों को 654.85 करोड़ रुपये के फसल मुआवजे का भुगतान भी शामिल है. रबी 2021-22 में 19.90 लाख किसानों द्वारा 14.21 लाख हेक्टेयर क्षेत्र का बीमा किया गया है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें