scorecardresearch
 

किसानों के लिए आफत बनी बारिश, यहां धान की फसल को हुआ भारी नुकसान

दिल्ली-एनसीआर में दो दिनों से लगातार बारिश जारी है. इसकी वजह से किसानों के सामने भारी मुसीबत खड़ी हो गई है.  ग्रेटर नोएडा के कई गांवों में बारिश की मार से धान की फसल जमीन पर लेट गई है, जिससे किसानों के सामने जीवनयापन का संकट खड़ा हो गया है.

X
Paddy crop ruined due to heavy rains Paddy crop ruined due to heavy rains

Paddy crop ruined due to heavy rains: दिल्ली एनसीआर में दो दिनों से लगातार बारिश हो रही है. तापमान में गिरावट आने से लोगों को गर्मी से निजात मिली है. हालांकि, इस बारिश के चलते खरीफ फसलों को काफी नुकसान पहुंचा है. ग्रेटर नोएडा के कई गांवों में बारिश की मार से धान की फसल जमीन पर लेट गई है.

बारिश से धान की फसल को भारी नुकसान

ग्रेटर नोएडा के दनकौर क्षेत्र के कनारसी गांव के रहने वाले किसान सतीश ने बताया कि दो दिन से हो रही बारिश की वजह से उनके गांव और उसके आसपास के इलाकों में धान की फसल को भारी नुकसान हुआ है. पिछली बार भी इसी वक्त भारी बारिश ने फसलों को नुकसान पहुंचा था.

पिछले साल भी बारिश से फसल हुई थी बर्बाद

सतीश आगे बताते हैं कि पिछली बार प्रशासन ने मुआवजे की बात कही थी लेकिन वह अभी तक नहीं मिल पाई है. इस बार की जोरदार बारिश ने फिर से हम सभी को मुश्किलों में डाल दिया है. अगर इसी तरह बारिश कुछ दिन और जारी रही तो सारी फसल बर्बाद होने की वजह से हमारे सामने जीवनयापन का संकट आ जाएगा. 

पहले सूखा अब बारिश की मार

बता दें कि इस साल मॉनसून बेहद कमजोर रहा है.  उत्तर प्रदेश के तकरीबन 62 जिले सूखे की भयंकर मार झेल रहे थे. धान की बुवाई के वक्त बारिश ना होने की वजह से फसलों को काफी नुकसान पहुंचा है. बारिश और सिंचाई के आभाव में धान के पौधे मुरझा गए. सरकार से राज्य को सूखाग्रस्त घोषित करने की मांग भी की गई थी. किसान काफी वक्त से बारिश का इंतजार कर रहे थे. हालांकि, तेज बारिश की मार से प्रदेश में कई जगहों धान की खड़ी फसलों को भारी नुकसान हुआ है.

(रिपोर्ट अरूण त्यागी, ग्रेटर नोएडा)

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें