scorecardresearch
 

अमेरिका: न्यूक्लियर इंजीनियर बेच रहा था पनडुब्बियों का सीक्रेट, पत्नी सहित अरेस्ट

US Nuclear Submarine: दंपति ने यह मानकर किसी व्यक्ति को गुप्त जानकारियां दी थीं कि वह किसी विदेशी सरकार का प्रतिनिधि है, लेकिन वह शख्स FBI का जासूस निकला.

US Nuclear Submarine (फोटो- US Navy) US Nuclear Submarine (फोटो- US Navy)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • परमाणु पनडुब्बी की जानकारी लीक करने का आरोप
  • FBI ने पति-पत्नी को किया गिरफ्तार

अमेरिकी नौसेना (US Navy) के एक परमाणु इंजीनियर (Nuclear Engineer) और उसकी पत्नी पर परमाणु पनडुब्बियों (US Nuclear Submarine) की गुप्त जानकारियां बेचने का आरोप लगा है. हालांकि, दंपति जिस शख्स को सीक्रेट जानकारी दे रहे थे, वो कोई और नहीं बल्कि एक अंडरकवर एफबीआई (FBI) एजेंट था. 
 
इस मामले में अमेरिका (America ) के न्याय विभाग ने रविवार को कहा कि 42 वर्षीय जोनाथन टोएबे (Jonathan Toebe) और उसकी 45 वर्षीय पत्नी डायना (Diana) को वेस्ट वर्जीनिया (West Virginia) से गिरफ्तार किया गया है. दिलचस्प बात यह है कि दंपति ने यह मानकर किसी व्यक्ति को गुप्त जानकारियां दी थीं कि वह किसी विदेशी सरकार का प्रतिनिधि है, लेकिन वह शख्स FBI का जासूस निकला. उनके खिलाफ परमाणु ऊर्जा अधिनियम का उल्लंघन करने का आरोप लगा है. 

'डेली मेल' रिपोर्ट के मुताबिक, करीब एक साल तक दंपति ने परमाणु शक्ति वाले युद्धपोतों (Nuclear Warships), पनडुब्बियों (Submarine) के डिजाइन से संबंधित सीक्रेट डाटा को एक ऐसे व्यक्ति को बेचा, जिसे वे एक विदेशी शक्ति का प्रतिनिधि मानते थे. 

शिकायत के अनुसार, शक होने पर FBI ने उनके मैसेज/गतिविधियों को इंटरसेप्ट किया और अंडरकवर एजेंट ने दंपति के साथ गुपचुप तरीके से संबंध स्थापित किए. एजेंट ने खुद को विदेशी सरकार के प्रतिनिधि के रूप में पेश किया, ताकि दंपति को रंगे हाथ पकड़ा जा सके. 

ऐसे छुपाकर देते थे इंक्रिप्टेड मेमोरी कार्ड

अमेरिकी परमाणु पनडुब्बी इंजीनियर और उसकी पत्नी पर क्रिप्टो में 70,000 डॉलर का भुगतान, इंक्रिप्टेड मेमोरी कार्ड को सैंडविच या च्यूइंग गम पैकेट में छिपाकर सीक्रेट जानकारी विदेशी सरकार को देने का आरोप है. लेकिन उन्हें नहीं पता था, वे एक अंडरकवर एफबीआई एजेंटों के साथ डील कर रहे थे. दंपति ने एजेंटों को कोड वर्ड में कई मेल भी किए थे. 

रिपोर्ट के मुताबिक, जोनाथन टोएबे ने यूएस नौसेना संचालन के प्रमुख, शाखा में शीर्ष अधिकारी के कार्यालय में 15 महीने तक काम किया था. उसने 2012 से नौसेना के परमाणु प्रोग्राम पर भी काम किया था, जिसमें पनडुब्बियों की गुप्त तकनीक शामिल है. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×