scorecardresearch
 

18 साल के लड़के ने बेवजह क्यों ले ली 23 की जान? ऐसे कातिलों में ये 5 बातें हैं कॉमन

अमेरिका में मास शूटिंग की घटनाएं आम हैं. एक रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिका में मई 2022 तक मास शूटिंग की 212 घटनाएं हो चुकी हैं. इसकी वजह अमेरिकी गन कल्चर को बताया जा रहा है लेकिन यही एकमात्र कारण नहीं है. लॉस एंजेलिस टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक इस तरह की घटनाओं को अंजाम देने वाले हमलावरों में कई तरह की समानताएं देखने को मिली हैं.

X
सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • टेक्सास में मास शूटिंग में 23 की मौत
  • सिर्फ गन कल्चर नहीं कई और भी कारण जिम्मेदार

अमेरिका में मास शूटिंग की घटनाएं आम हैं. एक रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिका में मई 2022 तक मास शूटिंग की 212 घटनाएं हो चुकी हैं.

ताजा मामला अमेरिका के टेक्सास का है, जहां 18 साल के एक शख्स ने स्कूल में घुसकर ताबड़तोड़ गोलियां चला दी, जिसमें अब तक 23 लोगों की मौत हो चुकी है. 

इसकी वजह अमेरिकी गन कल्चर को बताया जा रहा है लेकिन यही एकमात्र कारण नहीं है. इस तरह की घटनाओं को अंजाम देने वाले हमलावरों में कई तरह की समानताएं देखने को मिली हैं.

अमेरिका में एक स्टडी में 1966 से लेकर अब तक देश में उन सभी मास शूटर्स का डेटा इकट्ठा किया गया, जिन्होंने पब्लिक प्लेस पर चार से अधिक लोगों की जानें लीं. इन सभी कातिलों में कुछ बातें बिल्कुल एक जैसी पाई गईं.

बचपन में हिंसा का शिकार

अमेरिकी न्याय विभाग की रिसर्च इकाई नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ जस्टिस के साथ मिलकर लॉस एंजेलिस टाइम्स की रिपोर्ट से पता चला है कि अधिकतर मास शूटर्स ने बचपन में ट्रॉमा का सामना किया है और बेहद कम उम्र में हिंसा झेली है. इनमें से अधिकतर हमलावरों के माता-पिता ने आत्महत्या कर ली थी, इन्हें बचपन में शारीरिक या यौन शोषण का सामना करना पड़ा है या फिर ये घरेलू हिंसा या प्रताड़ना के शिकार हुए हैं. 

किसी घटना से परेशान या हताशा भी वजह

अधिकतर मास शूटर्स में देखा गया है कि किसी बात को लेकर गुस्से या हताशा की वजह से वो इस नौबत तक पहुंच गए. आमतौर पर वर्कप्लेस पर मास शूटिंग करने वाले हमलावर अपने काम या पद में बदलाव होने की वजह से आवेश में आ गए और इस तरह की घटना को अंजाम दिया. अन्य मामलों में प्यार में धोखा मिलने या रिजेक्शन बर्दाश्त नहीं कर पाना भी एक वजह है. 

दूसरे शूटर्स के नक्शेकदम को फॉलो करना

अधिकतर शूटर्स ने इस तरह की घटनाओं को पहले अंजाम दे चुके हमलावरों के नक्शेकदम पर चलते हुए बदला लेने की सोची थी. सामाजिक डर और मास शूटिंग के प्रति उनकी चाह उन्हें ऐसा करने के लिए मजबूर करती है. 

हत्या को बदला मान लेना

अधिकतर शूटर्स यह मान लेते हैं  कि अब जिंदगी में जीने लायक कुछ बचा नहीं है और मर्डर करने जैसा कदम उठाना ही उनकी नजर में सही बदला लेना है. 

आंकड़ों के मुताबिक, अमेरिका में स्कूलों में हुए 80 फीसदी मास शूटिंग की घटनाओं में हमलावरों ने परिवार की बंदूकों का इस्तेमाल किया. वर्कप्लेस पर शूटिंग करने वाले हमलावर अधिकतर हैंडगन का इस्तेमाल करेत हैं, जिसे वे कानूनी रूप से आसानी से खरीद सकते हैं.

नॉन प्रॉफिट ऑर्गेनाइजेशन Gun Violence Archive की रिपोर्ट के मुताबिक, 2022 में मई तक 212 बार मास शूटिंग हुई है. GVA के मुताबिक, फायरिंग के जिन मामलों में चार लोग मारे जाते हैं या घायल होते हैं, उन्हें मास शूटिंग में गिना जाता है. रिपोर्ट के मुताबिक, 2021 में अमेरिका में मास शूटिंग के 693 मामले सामने आए थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें