scorecardresearch
 

अफगानिस्तान: अमरुल्लाह सालेह के बड़े भाई से तालिबान ने की दरिंदगी, पंजशीर घाटी में की हत्या

अफगानिस्तान में तालिबान के खिलाफ मजबूत लड़ाई लड़ रहे अमरुल्लाह सालेह के बड़े भाई की तालिबान ने हत्या कर दी है. रोहुल्लाह सलेह को तालिबान ने पहले टॉर्चर किया और उसके बाद बेरहमी से मार गिराया. ये घटना पंजशीर की बताई जा रही है जहां पर अभी भी तालिबान का संघर्ष जारी है.

अमरुल्लाह सालेह के बड़े भाई से तालिबान ने की दरिंदगी अमरुल्लाह सालेह के बड़े भाई से तालिबान ने की दरिंदगी
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अमरुल्लाह सालेह के बड़े भाई की हत्या
  • पहले टॉर्चर, फिर तालिबान ने मारा
  • पंजशीर घाटी में की गई हत्या

अफगानिस्तान में तालिबान के खिलाफ मजबूत लड़ाई लड़ रहे अमरुल्लाह सालेह के बड़े भाई की तालिबान ने हत्या कर दी है. रोहुल्लाह सलेह को तालिबान ने पहले टॉर्चर किया और उसके बाद बेरहमी से मार गिराया. ये घटना पंजशीर की बताई जा रही है जहां पर अभी भी तालिबान का संघर्ष जारी है.

अमरुल्लाह सालेह के बड़े भाई की हत्या

जानकारी मिली है कि गुरुवार रात को तालिबान और नॉदर्न अलायंस के बीच हिंसक झड़प हुई थी. उस घटना में ही अमरुल्लाह सालेह के बड़े भाई को मार गिराया गया. ऐसी खबर है कि तालिबान के लड़ाकों ने रोहुल्लाह सलेह को काफी टॉर्चर किया था. अभी तक इस खबर को लेकर आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है. खुद अमरुल्लाह सालेह की तरफ से भी कोई प्रतिक्रिया देखने को नहीं मिल रही है.

पंजशीर वहीं इलाका है जहां पर अभी तालिबान का राष्ट्रीय प्रतिरोध मोर्चा (NRF) और नॉर्दन अलायंस संग तगड़ा संघर्ष चल रहा है. 15 अगस्त को काबुल पर तो तालिबान ने अपना कब्जा जमा लिया, लेकिन पंजशीर के लड़ाकों ने अपनी आजादी की जांग जारी रखी है. अमरुल्लाह सालेह का NRF और पंजशीर के लड़ाकों को खुला समर्थन दिया गया है. उनकी तरफ से कई मौकों पर तालिबान को खुली चेतावनी दी गई है. उन्होंने पूरी दुनिया से भी तालिबानी सरकार को मान्यता ना देने की अपील की है.

पहले टॉर्चर, फिर तालिबान ने मारा

उस बीच अब अमरुल्लाह के भाई की हत्या हो जाना एक बड़ी घटना है जिसके आने वाले दिनों में गंभीर परिणाम देखने को मिल सकते हैं. तालिबान ने इससे पहले भी कई ऐसी हत्याओं को अंजाम दिया है. पत्रकार दानिश सिद्दीकी को भी तालिबान ने ही बड़ी बेरहमी से मार गिराया था. उसका गुनाह सिर्फ इतना रहा था कि वो जमीन पर जा अफगानिस्तान की स्थिति को कवर कर रहा था. अब अमरुल्लाह के भाई संग भी तालिबान ने दरिंदगी की है. पहले टॉर्चर किया और उसके बाद जान से मार दिया गया.

वैसे इस हत्या को तो अंजाम दिया ही गया है, इसके अलावा तालिबान पिछले कुछ दिनों से लगातार दावे कर रहा है कि अमरुल्लाह सालेह अफगानिस्तान छोड़ तजाकिस्तान चले गए हैं. लेकिन NRF की तरफ से इस दावे का खंडन किया गया है. स्पष्ट कर दिया गया है कि तालिबान के खिलाफ NRF की जंग जारी रहने वाली है और अमरुल्लाह सालेह अपने देश की जनता को बीच मझधार में छोड़ नहीं भागेंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें