scorecardresearch
 

एटमी जंग की धमकी पर वेंकैया नायडू ने पूछा- सलाउद्दीन को कश्मीर पर बोलने का हक किसने दिया?

हिजबुल चीफ ने कहा कि मैं भारत-पाकिस्तान के बीच चौथे युद्ध की भव‍िष्यवाणी भी कर सकता हूं क्योंकि कश्मीरी किसी भी स्थ‍िति में समझौता करने के मूड में नहीं हैं.

हिजबुल मुजाहिदीन का चीफ सैयद सलाउद्दीन हिजबुल मुजाहिदीन का चीफ सैयद सलाउद्दीन
4:15

आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन के चीफ सैयद सलाउद्दीन ने कहा कि कश्मीर के मुद्दे पर भारत-पाकिस्तान में परमाणु युद्ध हो सकता है. सलाउद्दीन ने भारत को ये धमकी कराची में जमात-ए-इस्लामी नेताओं की कश्मीर मुद्दे पर हुई ज्वॉइंट न्यूज कॉन्फ्रेंस के दौरान दी. केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने सलाउद्दीन की धमकी पर कहा, 'वो है कौन और उसे कश्मीर पर बोलने का हक किसने दिया?' उन्होंने कहा कि धमकी से कुछ नहीं होगा. ऐसे लोग सिर्फ पब्लिसिटी के लिए इस तरह की बातें करते हैं.

सलाउद्दीन ने कहा, 'पाकिस्तान की ड्यूटी है कि कश्मीर में चल रही आजादी की लड़ाई को वो नैतिक, राजनीतिक सपोर्ट दे. अगर पाकिस्तान अपना समर्थन देता है तो दोनों ताकतों के बीच न्यूक्लियर वार होने की बहुत संभावनाएं हैं. दोनों मुल्कों के बीच तीन युद्ध पहले ही हो चुके हैं, जिनमें से दो कश्मीर के मुद्दे पर हुए थे.'

भारत-पाकिस्तान के बीच चौथे युद्ध की भव‍िष्यवाणी की
हिजबुल चीफ ने कहा कि मैं भारत-पाकिस्तान के बीच चौथे युद्ध की भव‍िष्यवाणी भी कर सकता हूं क्योंकि कश्मीरी किसी भी स्थ‍िति में समझौता करने के मूड में नहीं हैं. बेशक दुनिया उन्हें सपोट करे या न करे, पाकिस्तान उनका साथ दे या न दे, संयुक्त राष्ट्र अपना कर्तव्य निभाए या न निभाए, कश्मीरी अपने खून की आख‍िरी बूंद बाकी रहने तक ये लड़ाई लड़ेंगे.

सलाउद्दीन ने कहा कि दोनों मुल्कों के बीच 1998 में परमाणु परीक्षण होने के बाद से बड़ी लड़ाई नहीं हुई. उसने कहा कि अगर कश्मीर में चल रही हिंसा पर अंतरराष्ट्रीय समुदाय ने अपना ध्यान केंद्र‍ित नहीं किया तो दोनों तरफ के कश्मीरी सभी चीजें अपने हाथ में लेने को मजबूर हो जाएंगे.

सलाउद्दीन ने किया था राजनाथ के ख‍िलाफ प्रदर्शन
पिछले हफ्ते राजनाथ सिंह जब सार्क सम्मेलन में भाग लेने के लिए इस्लामाबाद गए थे तो सैयद सलाउद्दीन की अगुवाई में राजनाथ के ख‍िलाफ प्रदर्शन किया गया था. सलाउद्दीन और हाफिज सईद ने ने पाकिस्तानी सरकार से कहा था कि राजनाथ सिंह को इस्लामाबाद न आने दिया जाए.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें