scorecardresearch
 

दुनिया को डराने वाला नया 'वुहान', जहां 90% कोरोना मरीज Omicron वैरिएंट से संक्रमित

साउथ अफ्रीका में पाए गए कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन (Omicron) ने खौफ का नया दौर शुरू कर दिया है. ब्रिटेन, कनाडा, नीदरलैंड समेत कई देशों में कोरोना के इस नए वैरिएंट के केस मिल चुके हैं. लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी, दक्षिण अफ्रीका के उस प्रांत के बारे में जानकर जहां के 90 फीसदी कोरोना मरीज इसी वैरिएंट से संक्रमित मिल रहे हैं. ये प्रांत है Gauteng जहां हर तरफ नए वैरिएंट का खौफ है.

Omicron Omicron
स्टोरी हाइलाइट्स
  • गौतेंग में 90% ओमीक्रॉन वैरिएंट से संक्रमित
  • दुनिया के लिए नया वुहान बन रहे गौतेंग

करीब दो साल पहले चीन के वुहान से निकले कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया में खौफ कायम कर दिया था. तब से अब तक दुनिया कोरोना महामारी से जूझ रही है. पिछले कुछ महीने से दुनिया भर में कोरोना के केस कम हुए तो लोगों को राहत की उम्मीद जगी लेकिन अब फिर साउथ अफ्रीका में पाए गए कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन (Omicron) ने खौफ का नया दौर शुरू कर दिया है. ब्रिटेन, कनाडा, नीदरलैंड समेत कई देशों में कोरोना के इस नए वैरिएंट के केस मिल चुके हैं.

लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी, दक्षिण अफ्रीका के उस प्रांत के बारे में जानकर जहां के 90 फीसदी कोरोना मरीज इसी वैरिएंट से संक्रमित मिल रहे हैं. ये प्रांत है Gauteng जहां हर तरफ नए वैरिएंट का खौफ है. अधिकांश कोरोना मरीज इसी वैरिएंट के पाए जा रहे हैं. चारों तरफ लॉकडाउन जैसे हालात हैं, यूनिवर्सिटी-कॉलेज बंद किए जा चुके हैं, एग्जाम टल चुके हैं. हर किसी की टेस्टिंग कराई जा रही है. दक्षिण अफ्रीका में इस हालात को देखते हुए दुनिया के अधिकांश देश वहां से आने वाले यात्रियों के लिए कड़े नियम लागू कर चुके हैं या वहां से आने वाली उड़ानों पर रोक लगा चुके हैं.

Gauteng
Gauteng

द. अफ्रीका में 18- 34 की उम्र के केवल 22% युवाओं ने ली वैक्सीन

बता दें कि साउथ अफ्रीका के भीतर 18 से 34 की उम्र के केवल 22 प्रतिशत युवाओं ने ही कोरोना की वैक्सीन ली है. वैक्सीन ले चुके छात्र मंकूबा जीथा ने बताया कि वे कई साथियों को वैक्सीन लेने के लिए प्रेरित कर रहे हैं. जीथा ने कहा- मैं उन्हें समझाने की कोशिश कर रहा हूं कि कोरोना वायरस से बचना है तो वैक्सीन लेनी होगी. हम टीवी में देख रहे हैं कि लोग रोज मर रहे हैं. हमें समझना होगा.

दो सालों तक लगातार कोरोना की मार झेलने के बाद अब दुनिया कोरोना के नए वैरिएंट की चपेट में आने की कगार पर है. यही कारण है कि ओमिक्रॉन का पता लगने के बाद से ही कई देशों ने यात्रा प्रतिबंध लगा दिए हैं तो कई देशों ने खास साउथ अफ्रीका से आने वालों के लिए सीमाएं बंद कर दी हैं.

ओमिक्रॉन पर कितनी कारगर कोरोना की वैक्सीन?

डब्लूएचओ ने इस नए वैरिएंट को काफी ट्रांसमिसिबल बताया है. हालांकि इससे जुड़े जोखिमों को लेकर जानकारी अब भी पूरी नहीं मिल सकी है. कहा जा रहा है कि जिनको पहले से कोरोना है, उनके लिए इस नए वैरिएंट की चपेट में आना और भी आसान है. वहीं कोरोना की वैक्सीन ओमिक्रॅान पर कितनी कारगर है, ये पता लगाने में अभी कुछ सप्ताह लग जाएंगे. फिर भी कुछ एक्सपर्ट्स का मानना है कि ये वैक्सीन कुछ हद तक ओमिक्रॉन के लिए जरूर प्रभावी होगी.  

 'साउथ अफ्रीका से प्रतिबंध हटाएं सभी देश वरना..'

ओमिक्रॉन के चलते कई देशों ने अफ्रीका के यात्रियों पर प्रतिबंध लगाया है. ऐसे में देश के राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा ने इन 20 से अधिक देशों से कहा कि अर्थव्यवस्थाओं को और नुकसान से बचाने के लिए ये प्रतिबंध  तुरंत समाप्त करें.  उन्होंने कहा कि हम यह जानते हैं कि कोरोना वायरस लंबे समय तक हमारे साथ रहेगा, इसलिए हमें अर्थव्यवस्था में व्यवधानों को सीमित करते हुए  महामारी के प्रबंधन के तरीके खोजने चाहिए. इधर, विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने भी रविवार को दुनिया भर के देशों से ओमिक्रॉन पर चिंताओं के कारण दक्षिणी अफ्रीकी देशों पर उड़ान प्रतिबंध नहीं लगाने को कहा है.

अफ्रीका के लिए डब्ल्यूएचओ के क्षेत्रीय निदेशक, मत्स्यदिसो मोएती ने कहा कि यात्रा प्रतिबंध धीरे- धीरे संक्रमण को कम करेंगे लेकिन इससे लोगों की आजीविका पर बड़ा और गंभीर प्रभाव पड़ेगा. 

कहां है Gauteng प्रांत?

Gauteng दक्षिण अफ्रीका के 9 प्रांतों में से एक है. यहां की आबादी सवा करोड़ के आसपास है. यह भीड़-भाड़ वाला इलाका है, Land of Gold के नाम से जाना जाता है. इसकी सीमा किसी दूसरे देश से नहीं लगती लेकिन गोल्ड माइन्स और बिजनेस के लिए सिलसिले में विदेशी लोगों का आना-जाना अच्छा खासा है. कोरोना के नए वैरिएंट के पता चलने के बाद प्रांत के सभी इलाकों में टेस्टिंग और वैक्सीनेशन का काम तेज कर दिया गया है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×