scorecardresearch
 

Indian Student Killed in Ukraine: यूक्रेन में एक भारतीय छात्र की मौत, खारकीव में रूसी बमबारी में गई जान

Indian Student Killed in Ukraine: यूक्रेन में रूसी हमले अब तेज हो गए हैं. इस बीच खारकीव में एक भारतीय छात्र की मौत हो गई है. बताया गया है कि उसकी जान रूसी बमबारी की वजह से गई है.

X
यूक्रेन में फंसे भारतीयों को मिशन गंगा के तहत निकाला जा रहा है (फाइल फोटो) यूक्रेन में फंसे भारतीयों को मिशन गंगा के तहत निकाला जा रहा है (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • रूसी हमले में नवीन नाम के भारतीय छात्र की मौत
  • भारतीय छात्र नवीन कर्नाटक का रहने वाला था

Indian Student Killed in Ukraine: यूक्रेन में रूसी हमलों से हालात अब बद से बदतर होते जा रहे हैं. ऐसे ही एक हवाई हमले में खारकीव में भारतीय छात्र की मौत हो गई है. यह जानकारी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची (Arindam Bagchi) ने दी है. मंगलवार को रूसी हमले में मारे गए भारतीय छात्र का नाम नवीन है. वह कर्नाटक का रहने वाला था.

आज सुबह से रूस ने यूक्रेन के सभी बड़े शहरों में हमले तेज कर दिए हैं. कीव की तरफ रूसी सेना का बड़ा काफिला तेजी से बढ़ रहा है.

रूसी हमले में मारे गए भारतीय छात्र का नाम नवीन है

अरिंदम बागची ने कहा कि यह बताते हुए मुझे बड़ा दुख है कि खारकीव में जो हवाई हमले हो रहे हैं, उसमें एक भारतीय छात्र की मौत हो गई है. फिलहाल मंत्रालय छात्र के परिवार के साथ संपर्क में है. परिवार के साथ हमारी संवेदनाएं हैं.

Arindam Bagchi ने आगे जानकारी दी है कि भारतीय विदेश सचिव रूस और यूक्रेन के राजदूतों से संपर्क में हैं. इसमें यह मांग उठाई गई है कि भारतीय छात्रों और नागरिकों को निकलने के लिए सुरक्षित रास्ता दिया जाए क्योंकि कई छात्र अभी खारकीव और अन्य शहरों में फंसे हुए हैं.

दूतावास ने कहा था- जल्द से जल्द कीव छोड़ दें

यूक्रेन की राजधानी कीव में बिगड़ती स्थिति के बीच आज ही भारतीय दूतावास ने सख्त एडवाइजरी जारी की थी. इसमें कहा गया था कि सभी भारतीय नागरिक और छात्र कीव को जल्द से जल्द छोड़ दें. एडवाइजरी में लिखा था कि कीव छोड़ने के लिए जो साधन उनको मिले उसे तुरंत पकड़कर वे निकल लें. इसमें ट्रेन, बस आदि से ट्रैवल करने की सलाह दी गई थी.

बता दें कि यूक्रेन में करीब 20 हजार भारतीय लोग मौजूद थे, जिनमें से ज्यादातर वहां मेडिकल की पढ़ाई करने गए थे. इनमें से चार हजार से ज्यादा लोग वापस भारत आ चुके हैं, बाकियों को निकाला जा रहा है. मोदी सरकार ने इसके लिए ऑपरेशन गंगा की शुरुआत की है. बता दें कि ऑपरेशन गंगा की आठवीं फ्लाइट बुडापेस्ट (हंगरी) से दिल्ली के लिए मंगलवार को ही रवाना हुई है. इससे पहले आज यूक्रेन से एक फ्लाइट 182 भारतीय छात्र को लेकर छत्रपति शिवाजी महाराज इंटरनेशनल एयरपोर्ट पहुंची थी.

भारतीयों को फिलहाल यूक्रेन के पड़ोसी देशों की मदद से उनकी सीमओं के रास्ते निकाला जा रहा है. सोमवार को मोदी सरकार ने इस काम को और तेजी से करने के लिए चार मंत्रियों को जिम्मेदारी दी थी. इसमें किरेन रिजिजू स्लोवाकिया जा रहे हैं. इसके अलावा वीके सिंह पोलैंड जाएंगे. वहीं ज्योतिरादित्य सिंधिया रोमानिया और मोलदोवा (Moldova) जाएंगे. इसके अलावा हरदीप सिंह पुरी हंगरी (Hungary) रवाना होंगे.

यूक्रेन भेजे जा सकते हैं वायुसेना के विमान

सूत्रों के मुताबिक, ऑपरेशन गंगा के तहत भारतीय नागरिकों को निकालने का काम और तेजी से होगा. इसके लिए प्रधानमंत्री मोदी ने भारतीय वायु सेना को भी इस ऑपरेशन से जुड़ने के लिए कहा है. वायु सेना के हवाई जहाजों के जुड़ने से भारतीयों के लौटने की प्रक्रिया गति पकड़ेगी, और उनकी संख्या में भी वृद्धि होगी. साथ ही साथ, भारत से भेजी जा रही राहत सामग्री भी और तेजी से पहुंचेगी. भारतीय वायु सेना के कई C-17 विमान आज ऑपरेशन गंगा के तहत उड़ान शुरू कर सकते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें