scorecardresearch
 

Ukraine-Russia Crisis: 3 गुना बड़ी सेना, 10 गुना ज्यादा रक्षा बजट... जानें मिलिटरी पावर में रूस के सामने कहां टिकता है यूक्रेन?

Ukraine-Russia Crisis: रूस और यूक्रेन के बीच तनाव कम होने का नाम नहीं ले रहा है. सीमा पर अब भी 1.5 लाख सैनिकों की मौजूदगी की बात सामने आ रही है.

X
रूस-यूक्रेन सीमा पर लाखों सैनिक तैनात हैं. (फाइल फोटो-AP/PTI)
रूस-यूक्रेन सीमा पर लाखों सैनिक तैनात हैं. (फाइल फोटो-AP/PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • रूस का रक्षा बजट यूक्रेन से 10 गुना ज्यादा
  • रूस की जीडीपी भी यूक्रेन से 10 गुना ज्यादा

Ukraine-Russia Crisis: रूस और यूक्रेन के बीच जारी तनाव कम होने का नाम नहीं ले रहा है. रूस का दावा है कि उसने सीमा से सेना की वापसी शुरू कर दी है, लेकिन अमेरिका समेत यूरोपीय देशों ने अब भी सीमा पर 1.5 लाख सैनिकों की मौजूदगी का अंदेशा जताया है. सैटेलाइट तस्वीरों में भी यूक्रेन की सीमा के पास रूसी सैनिक, भारी हथियार और बख्तरबंद गाड़ियां नजर आ रहीं हैं.

अमेरिकी रक्षा मंत्री एंटनी ब्लिंकेन (Antony Blinken) ने NBC न्यूज से बात करते हुए रूस और यूक्रेन के बीच कभी भी युद्ध होने की आशंका जाहिर की है. उन्होंने कहा कि वो (व्लादिमीर पुतिन) कभी भी ट्रिगर दबा सकते हैं. वो आज ऐसा कर सकते हैं, कल कर सकते हैं या अगले हफ्ते कर सकते हैं.

वहीं, विदेश विभाग के प्रवक्ता नेड प्राइस का भी कहना है कि सीमा पर रूसी सैनिकों की बढ़ोतरी देखी है, कमी नहीं. उन्होंने कहा कि ये रूस की चालबाजी है कि वो दिखाता कुछ है और करता कुछ है. 

ये भी पढ़ें-- Russia-Ukraine Conflict: रूस-अमेरिका के कोल्ड वॉर में पिस गए ये 7 देश, Ukraine का भी हाल ऐसा ही ना हो जाए...

सैन्य मोर्चे पर कहां टिकते हैं रूस और यूक्रेन?

रूस के पास दुनिया की सबसे शक्तिशाली सेनाओं में से एक है. सैन्य खर्च के मामले में रूस दुनिया के टॉप-5 देशों में है. 2020 में रूस ने रक्षा पर 61.7 अरब डॉलर खर्च किए थे. स्टॉकहोम इंटरनेशनल पीस रिसर्च इंस्टीट्यूट (SIPRI) के मुताबिक, यूक्रेन ने अपनी सेना पर 5.9 अरब डॉलर का खर्च किया था. यानी, रूस की तुलना में यूक्रेन ने रक्षा पर 10 गुना कम खर्च किया. 

इतना ही नहीं, तीनों सेनाओं के मामले में भी रूस और यूक्रेन का कोई मुकाबला नहीं है. ग्लोबल फायर पॉवर के मुताबिक, रूस के पास 30 लाख से ज्यादा जवान हैं, जिनमें से 10 लाख सक्रिय जवान हैं. वहीं, यूक्रेन के पास 11.55 लाख जवान हैं जिनमें से 2.55 लाख सक्रिय हैं. रूस के पास जहां 1500 से ज्यादा लड़ाकू विमान हैं तो यूक्रेन के पास महज 67 लड़ाकू विमान ही हैं.

रूस और यूक्रेन की अर्थव्यवस्था में कितना फर्क?

रूस की अर्थव्यवस्था सबसे ज्यादा कच्चे तेल पर निर्भर है. रूस और यूक्रेन की अर्थव्यवस्था करीब 10 गुना का अंतर है. GeoRank के मुताबिक, रूस की जीडीपी जहां 1.7 ट्रिलियन डॉलर की है तो यूक्रेन की जीडीपी 130 अरब डॉलर के आसपास है. 

वर्ल्ड बैंक के मुताबिक, 2013 में रूस की जीडीपी का साइज 2.3 ट्रिलियन डॉलर था. इसके बाद रूस की जीडीपी भले ही कम हुई है लेकिन यूक्रेन की तुलना में ये अब भी कहीं ज्यादा है.

वहीं, सेंटर फॉर इकोनॉमिक्स एंड बिजनेस रिसर्च (CEBR) की रिपोर्ट के अनुसार, 2014 में जब से रूस के साथ विवाद शुरू हुआ है, तब से यूक्रेन को 280 अरब डॉलर का नुकसान हो चुका है.

आबादी के लिहाज से भी रूस और यूक्रेन में काफी अंतर है. रूस की अनुमानित आबादी 14.6 करोड़ के आसपास है तो यूक्रेन की आबादी 4.6 करोड़ है.

ये भी पढ़ें-- Russia-Ukraine Conflict: टली नहीं है महाजंग... यूक्रेन के पास रूस ने उल्टे बढ़ा दी सेना... नई सैटेलाइट तस्वीरों से खुलासा

रूस और यूक्रेन के बीच क्या है विवाद?

रूस और यूक्रेन के बीच लंबे वक्त से विवाद चल रहा है. दरअसल, यूक्रेन NATO में शामिल होना चाहता है, लेकिन रूस ऐसा नहीं चाहता है. 

रूस को लगता है कि अगर यूक्रेन NATO में शामिल हुआ तो NATO के सैनिक और ठिकाने उसकी सीमा के पास आकर खड़े हो जाएंगे. हालांकि, NATO ने ऐसा नहीं होने का भरोसा दिलाया है. इसलिए रूस ने यूक्रेन की सीमा के पास 1 लाख से ज्यादा सैनिक और हथियार तैनात कर दिए हैं. 

दोनों देशों के बीच ताजा विवाद को NATO से जोड़कर देखा जा रहा है. हालांकि, इससे पहले 2014 में भी दोनों देशों के बीच संघर्ष हुआ था और उस वक्त रूस ने यूक्रेन के क्रीमिया पर कब्जा कर लिया था.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें