scorecardresearch
 

पाकिस्तान में ईश निंदा पर बवाल और तोड़फोड़, सैमसंग के 27 कर्मचारी पुलिस हिरासत में

पाकिस्तान के कराची में स्टार सिटी मॉल में एक वाईफाई डिवाइस इंस्टॉल किया गया था. आरोप है कि इसमें कथित तौर पर ईश निंदा की गई. मौके पर भीड़ एकट्ठा हो गई और हंगामा शुरू कर दिया.

X
एक साल पहले पाकिस्तान में ईशनिंदा के आरोप में श्रीलंकाई नागरिक की हत्या कर दी गई थी. (File Photo) एक साल पहले पाकिस्तान में ईशनिंदा के आरोप में श्रीलंकाई नागरिक की हत्या कर दी गई थी. (File Photo)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कराची के स्टार सिटी मॉल का मामला
  • वाईफाई डिवाइस इंस्टॉल करने गए थे कंपनी कर्मचारी

पाकिस्तान में कथित ईश निंदा के आरोप में जमकर बवाल हो गया. हिंसक भीड़ ने शुक्रवार को एक मॉल में तोड़फोड़ की और हंगामा किया. इस मामले में पाकिस्तान की पुलिस ने सैमसंग मोबाइल फोन कंपनी के 27 कर्मचारियों को हिरासत में ले लिया है. आरोप है कि मोबाइल फोन कंपनी के कर्मचारियों ने कथित ईश निंदा की है. मामला कराची शहर का है. 

जानकारी के मुताबिक, कराची के स्टार सिटी मॉल में एक वाईफाई डिवाइस इंस्टॉल किया गया था. आरोप है कि इसमें कथित तौर पर ईश निंदा की गई. मौके पर भीड़ एकट्ठा हो गई और हंगामा शुरू कर दिया. प्रदर्शनकारियों ने मॉल में लगे कंपनी के साइनबोर्ड को क्षतिग्रस्त कर दिया. सूचना मिलते ही स्थानीय पुलिस मौके पर पहुंची और डिवाइस को बंद कर दिया और इसे जब्त कर लिया है.

डिवाइस इंस्टॉल करने वाले का पता करेगी पुलिस

पुलिस ने डिवाइस मुहैया कराने वाले सैमसंग कंपनी के 27 कर्मचारियों को हिरासत में लिया है. पुलिस ने कहा- 'सैमसंग कार्यालय के 27 लोगों को हिरासत में लिया गया है और पूछताछ की जा रही है. एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि वे संघीय जांच एजेंसी (FIA) साइबर क्राइम विंग की मदद से यह पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि डिवाइस को इंस्टॉल करने के लिए कौन जिम्मेदार था.

कंपनी ने कहा- तत्काल जांच शुरू कर दी

इस बीच, सैमसंग के पाकिस्तान दफ्तर ने एक बयान में कहा कि कंपनी ने धार्मिक भावनाओं को ठेस नहीं पहुंचाई है. सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स ने कहा कि वह धार्मिक महत्व के सभी मामलों पर निष्पक्षता बनाए रखने का प्रयास करता है. कंपनी सभी धार्मिक भावनाओं और विश्वास का सम्मान करती है. इस्लाम धर्म को सम्मान देते हैं. कंपनी ने यह भी कहा कि मामले की तत्काल जांच शुरू कर दी गई है.

पाकिस्तान में ईश निंदा संवेदनशील मुद्दा 

बताते चलें कि ईश निंदा को पाकिस्तान में बेहद संवेदनशील मुद्दा माना जाता है और इसके आरोपित लोग कट्टरपंथी समूहों के आसान शिकार बन जाते हैं. पिछले साल एक फैक्ट्री में काम करने वाले श्रीलंकाई नागरिक को ईशनिंदा के आरोप में मजदूरों ने पीट-पीट कर मार डाला था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें