scorecardresearch
 

अफगानिस्तान में संघर्ष के बाद 53 परिवारों ने जलालाबाद छोड़ा, अब बची सिर्फ सात फैमिली

अफगानिस्तान (Afghanistan) में तालिबान (Taliban) के बढ़ने के डर से 53 परिवार जलालाबाद से चले गए हैं. इंडिया टुडे टीवी ने विश्व के सबसे पुराने गुरुद्वारा में से एक का दौरा किया.

अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे में कई इलाके अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे में कई इलाके
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अफगानिस्तान से वापस आ रहे सिख
  • 60 में से 53 परिवार भारत लौटे
  • तालिबान ने कई इलाकों पर किया कब्जा

अफगानिस्तान (Afghanistan) में तालिबान (Taliban) के बढ़ने के डर से 53 परिवार जलालाबाद से चले गए हैं. इंडिया टुडे टीवी ने विश्व के सबसे पुराने गुरुद्वारा में से एक का दौरा किया. इस गुरुद्वारे को बंद कर दिया गया है और एंट्री गेट पर पुलिस गार्ड की तैनाती थी.

वहीं पर मौजूद एक दुकानदार से जब पूछा गया तो तेजेंद्र सिंह नामक दुकानदार ने कहा कि यह गुरुद्वारा सप्ताह के आखिर में ही खुलता है.

उन्होंने कहा, "जलालाबाद में रहने वाले 60 परिवारों में से 53 भारत में चले गए हैं और अभी केवल 7 परिवार जलालाबाद में रह रहे हैं.'' तेजेंद्र ने कहा कि सैकड़ों सिख परिवार 70 की शुरुआत से ही जलालाबाद में रह रहे थे. कई सिख जुलाई, 2018 में गुरुद्वारे पर हुए आतंकी हमले के बाद चले गए थे.

बता दें कि पिछले साल मार्च महीने में सिख समुदाय को फिर से आतंकवादियों ने निशाना बनाया था जब काबुल गुरुद्वारे में हुए घातक हमले में 20 सिख मारे गए थे. वहीं, अब अफगानिस्तान से अमेरिका के सैनिक 20 साल के लंबे अंतराल के बाद वापसी कर चुके हैं. इसके बाद से तालिबान ने अफगानिस्तान में संघर्ष को तेज कर दिया है और ज्यादातर इलाके अब उसके कब्जे में हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें