scorecardresearch
 

अमेरिका: भारतीय मूल की कमला हैरिस ने रचा इतिहास, उपराष्ट्रपति पद पर पहुंचने वाली पहली महिला

तमिलनाडु के तुलासेंतिरापुरम में कमला हैरिस का पुश्तैनी गांव है. हाल ही में उनकी जीत के लिए विशेष पूजा का आयोजन किया गया था. चेन्नई से लगभग 350 किलोमीटर दूर इस गांव में हैरिस के नाना पीवी गोपालन रहते थे. पीवी गोपालन का परिवार अब चेन्नई में रहता है.

X
कमला हैरिस संभालेंगी उपराष्ट्रपति पद का कार्यभार
कमला हैरिस संभालेंगी उपराष्ट्रपति पद का कार्यभार
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अमेरिका के राष्ट्रपति पद के चुनाव में बाइडेन ने मारी बाजी
  • डोनाल्ड ट्रंप को दी शिकस्त, कमल हैरिस होंगी उपराष्ट्रपति
  • कमला हैरिस मुखर वक्ता के तौर पर जानी जाती हैं

अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेट उम्मीदवार जो बाइडेन ने शानदार जीत दर्ज की है. डोनाल्ड ट्रंप को हराकर बाइडेन अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति बनने जा रहे हैं. बाइडेन को 273 वोट मिले. वहीं, डोनाल्ड ट्रंप के पक्ष में 214 इलेक्टोरल वोट गए. यह जीत निर्णायक राज्य पेनसिल्वेनिया में बाइडेन की जीत के बाद तय हुई.

वहीं, अमेरिका के चुनावी इतिहास में भारतीय मूल की कमला हैरिस ने इतिहास रच दिया है. बतौर महिला, अश्वेत और साउथ एशियन होते हुए कमला हैरिस उपराष्ट्रपति पद पर काबिज होने जा रही हैं. ये अमेरिका के राजनीतिक इतिहास में पहली बार होगा. जो बाइडेन ने अगस्त में कमला का नाम उपराष्ट्रपति पद के लिए सुझाया था. कैलिफोर्निया की अमेरिकी सीनेटर ने सैन फ्रांसिस्को की पहली महिला जिला अटॉर्नी के रूप में काम किया और कैलिफोर्निया की पहली महिला थीं, जिन्हें अटॉर्नी जनरल चुना गया था. कमला हैरिस मुखर वक्ता के तौर पर जानी जाती हैं. 

तमिलनाडु के तुलासेंतिरापुरम से कमला हैरिस का ताल्लुक है. हाल ही में यहां उनकी जीत के लिए विशेष पूजा का आयोजन किया गया था. चेन्नई से लगभग 350 किलोमीटर दूर इस गांव में हैरिस के नाना पीवी गोपालन रहते थे. पीवी गोपालन का परिवार अब चेन्नई में रहता है.

जम्मू-कश्मीर और CAA-NRC पर मुखर रही हैं

कमला हैरिस ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद लंबे वक्त तक लॉकडाउन और नेताओं को नजरबंद रखने का विरोध किया था. उन्होंने अपने बयान में कहा था कि हम उनके साथ खड़े हैं, मानवाधिकार के नियमों का उल्लंघन पूरी तरह गलत है. कमला हैरिस CAA-NRC के विरोध में भी आवाज उठा चुकी हैं. जब विदेश मंत्री एस. जयशंकर अमेरिकी यात्रा पर थे, तो उन्होंने उस अमेरिकी सीनेटर से मिलने से मना कर दिया था जिन्होंने CAA-NRC का विरोध किया था. इसपर कमला हैरिस ने भारत के विदेश मंत्री की कड़ी आलोचना की थी. 

देखें: आजतक LIVE TV

90 मिनट तक बहस चली थी

प्रेसिडेंशियल डिबेट में मौजूदा उपराष्ट्रपति माइक पेंस और कमला हैरिस के बीच करीब 90 मिनट तक बहस चली थी. कमला हैरिस की ओर से ट्रंप प्रशासन को कोरोना संकट का सामना करने में पूरी तरह से फेल बताया गया था. कमला हैरिस की ओर से आरोप लगाया गया कि ट्रंप प्रशासन को जनवरी में ही कोरोना संकट के बारे में पता था, लेकिन उन्होंने देश को नहीं बताया. जिसका खामियाजा दो लाख से अधिक लोगों को अपनी जान गंवा कर देना पड़ा. जवाब में माइक पेंस की ओर से कहा गया कि ट्रंप ने सबसे पहले चीन की फ्लाइट पर रोक लगाई और उसके बाद देश में कोरोना से लड़ने की तैयारियों पर जोर दिया.

भतीजी ने कर दिया था विवादित ट्वीट 

हाल ही में कमला हैरिस की भतीजी ने एक तस्वीर ट्वीट की जिसे लेकर हिंदू समुदाय ने माफी की मांग की थी. कमला हैरिस की भतीजी ने उन्हें देवी दुर्गा के रूप में दिखाने वाली एक तस्वीर ट्वीट की थी. भतीजी मीणा हैरिस ने बाद में ट्वीट डिलीट कर दिया था. 35 साल की मीणा हैरिस पेशे से वकील हैं और फिनोमेनल वुमेन ऐक्शन कैंपेन की फाउंडर भी हैं. कमला हैरिस के समर्थन में वो लगातार ट्वीट करती रही हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें