scorecardresearch
 

पठानकोट हमला: JIT से नहीं मिला जवाब, पाकिस्तान के बयान का इंतजार करेगा भारत

केंद्र सरकार अब राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और उनके पाकिस्तानी समकक्ष नसीर खान जंजुआ के बीच बातचीत का इंतजार कर रही है. सरकार का मानना है कि पाकिस्तान को पठानकोट हमले के पर्याप्त सबूत उपलब्ध करा दिए गए हैं इसलिए अब गेंद पड़ोसी देश के पाले में है.

पठानकोट हमले की जांच के लिए हाल में भारत आई पाकिस्तान की ज्वॉइंट इन्वेस्टिगेशन टीम (जेआईटी) ने स्वदेश लौटने के बाद अभी तक एनआईए से बातचीत नहीं की है. सूत्रों के मुताबिक भारत सरकार ने तय किया है कि जब तक पाकिस्तान का आध‍िकारिक बयान नहीं आ जाता, तब तक सरकार उन पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्ट्स पर प्रतिक्रिया नहीं देगी, जिनमें जेआईटी के हवाले से पठानकोट हमले को भारत का ड्रामा बताया गया है.

पठानकोट हमला: भारत ने पाक को उपलब्ध कराए ठोस सबूत
सूत्रों ने बताया कि भारत ने पठानकोट हमले को लेकर पाकिस्तान को कई ठोस सबूत उपलब्ध कराए हैं. पाकिस्तान इस मामले की जांच के लिए पठानकोट एयरबेस में एंट्री चाहता था और भारत ने पाक जेआईटी को पठानकोट एयरबेस में आने देने की इजाजत देकर अपना वादा पूरा किया.

भारत ने पाकिस्तान के पाले में डाली गेंद
केंद्र सरकार अब राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और उनके पाकिस्तानी समकक्ष नसीर खान जंजुआ के बीच बातचीत का इंतजार कर रही है. सरकार का मानना है कि पाकिस्तान को पठानकोट हमले के पर्याप्त सबूत उपलब्ध करा दिए गए हैं इसलिए अब गेंद पड़ोसी देश के पाले में है.

JIT ने कहा- पठानकोट हमला भारत का ड्रामा: पाक मीडिया
पाकिस्तान टुडे की खबर के मुताबिक, पठानकोट हमले की जांच करने आई पाक की जेआईटी ने इस हमले को अपने देश के ख‍िलाफ भारत का 'शातिराना दुष्प्रचार' करार दिया है. पाक जेआईटी जल्द अपनी रिपोर्ट प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को सौंप देगी. पठानकोट एयरबेस का दौरा कर चुके जेआईटी के एक सदस्य ने कहा, पठानकोट हमला पाकिस्तान के खिलाफ 'शातिराना दुष्प्रचार' के सिवा कुछ नहीं था क्योंकि भारतीय अथॉरिटीज के पास अपने दावों के हक में कोई सबूत नहीं था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें