scorecardresearch
 

ICJ चुनावः भारत ने अपने प्रत्याशी दलवीर भंडारी के लिए शुरू की लॉबिंग

अंतरराष्ट्रीय अदालत (आईसीजे) के न्यायाधीश के चुनाव से पहले भारत ने दुनिया के देशों के राजनयिकों के साथ लॉबिंग शुरू कर दी है. इसी सिलसिले में विदेश मंत्रालय के अधिकारियों ने कई देशों के राजदूतों के साथ अलग-अलग बैठकें की.

ब्रिटेन के क्रिस्टोफर ग्रीनवुड और भारत के दलवीर भंडारी ब्रिटेन के क्रिस्टोफर ग्रीनवुड और भारत के दलवीर भंडारी

अंतरराष्ट्रीय अदालत (ICJ) के न्यायाधीश के चुनाव से पहले भारत ने दुनिया के देशों के राजनयिकों के साथ लॉबिंग शुरू कर दी है. इसी सिलसिले में विदेश मंत्रालय के अधिकारियों ने कई देशों के राजदूतों के साथ अलग-अलग बैठकें की. इससे पहले ICJ की एक सीट पर चुनाव के लिए भारत और ब्रिटेन के उम्मीदवारों के बीच मुकाबला बेनतीजा रहा है.

अब न्यायाधीश के चुनाव के लिए अगली तारीख की घोषणा जल्द की जाएगी. पांच सदस्यीय ICJ में एक न्यायाधीश का पद खाली हुआ है, जिसके लिए फिर से चुनाव होने हैं. भारत ने दलवीर भंडारी को दूसरे कार्यकाल के लिए इस चुनाव में उतारा है. अब भारत की कोशिश उनको किसी तरह जिताने की है.

इससे पहले नीदरलैंड के हेग स्थित अंतरराष्ट्रीय अदालत की एक सीट के लिए भारत के दलवीर भंडारी और ब्रिटेन के क्रिस्टोफर ग्रीनवुड के बीच मुकाबला फिर से बेनतीजा रहा है. दोनों उम्मीदवार संयुक्त राष्ट्र महासभा और सुरक्षा परिषद में 11 चरणों के चुनाव के बाद भी ताजा मुकाबले में पर्याप्त वोट नहीं हासिल कर सके.

मेल टुडे को दिए साक्षात्कार में थाइलैंड के राजदूत ने बताया कि उन्होंने भारतीय विदेश मंत्रालय के अधिकारियों से मुलाकात की है. उन्होंने बताया कि भारत का फोकस संयुक्त राष्ट्र महासभा में भारतीय उम्मीद दलवीर भंडारी के लिए दो तिहाई बहुमत सुनिश्चित करना है. महासभा में बहुमत हासिल होने से सुरक्षा परिषद पर नैतिक दबाव बनेगा.

दरअसल, ब्रिटेन के क्रिस्टोफर ग्रीनवुड को सुरक्षा परिषद में बहुमत हासिल है. ऐसे में अगर महासभा में भारत के दलवीर भंडारी को बहुमत मिलेगा, तो इस पर काबिज होने की संभावनाएं बढ़ जाएंगी. अब दोनों प्रत्याशियों के सामने महासभा और सुरक्षा परिषद में एक साथ बहुमत हासिल करने की चुनौती है.

संयुक्त राष्ट्र के तय नियमों के मुताबिक आईसीजे में बतौर जज नियुक्ति के लिए उम्मीदवार को संयुक्त राष्ट्र महासभा में 97 वोट हासिल और सुरक्षा परिषद से 8 वोट हासिल करने होते हैं.

इससे पहले अंतरराष्ट्रीय न्यायालय (ICJ) में बतौर जज नियुक्ति के लिए संयुक्त राष्ट्र महासभा में स्पष्ट बहुमत हासिल करने के बावजूद भारतीय उम्मीदवार जस्टिस दलवीर भंडारी की नियुक्ति में अड़ंगा डालने को लेकर भड़के पूर्व राजनयिक शशि थरूर ने सुरक्षा परिषद के स्थायी सदस्य ब्रिटेन की बखिया उधेड़ी थी.

वहीं, संयुक्त राष्ट्र महासभा अध्यक्ष के प्रवक्ता ब्रेंडन वर्मा ने बताया कि सोमवार को महासभा में छह चरणों में मतदान हुआ और अभी तक कुल 11 चरणों में मतदान हो चुके हैं. उन्होंने कहा कि भारत और ब्रिटेन के दोनों उम्मीदवारों में से किसी को भी महासभा और सुरक्षा परिषद में पर्याप्त बहुमत नहीं मिला. ब्रेंडन वर्मा ने संवाददाताओं से कहा कि इसलिए महासभा इस मामले पर अब फिर से बैठक करेगी. अगली बैठक की तारीख की घोषणा जल्द की जाएगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें