scorecardresearch
 

वैक्सीनेशन के बावजूद रूस में कोरोना की स्थिति गंभीर, 24 घंटे में 1000 मौतें, 33 हजार नए केस

दुनियाभर में तबाही मचा रहे कोरोना वायरस ने रूस को भी खूब तबाह किया है. रूस में कोविड के चलते दैनिक मृत्यु पहली बार 1,000 से अधिक हो गई है. इसके अलावा 33,208 नए संक्रमण मामले सामने आए हैं. ये आंकड़ा भी एक दिन पहले की तुलना में 1000 ज्यादा है.

corona in russia corona in russia
स्टोरी हाइलाइट्स
  • रूस में कोरोना वैक्सीन से अब भी डर रहे लोग
  • रूस में 1000 के पार हुआ मौत का दैनिक आंकड़ा

रूस में कोविड के चलते दैनिक मृत्यु पहली बार 1,000 से अधिक हो गई है. राष्ट्रीय कोरोना वायरस टास्क फोर्स ने शनिवार को 1,002 मौतों की सूचना दी. शुक्रवार को ये आंकड़ा 999 था. इसके अलावा 33,208 नए संक्रमण मामले सामने आए हैं. ये आंकड़ा भी एक दिन पहले की तुलना में 1000 ज्यादा है.

रूसी अधिकारियों ने लॉटरी, बोनस और अन्य लुभावने ऑफरों के साथ टीकाकरण की गति को तेज करने की कोशिश की है. लेकिन वैक्सीन को लेकर लोगों के मन में संदेह और अधिकारियों के परस्पर विरोधी संकेतों ने प्रयासों को विफल कर दिया. सरकार ने इस सप्ताह कहा कि लगभग 4.3 करोड़ रूसी, या देश के लगभग 14.6 करोड़ लोगों में से करीब 29 प्रतिशत लोगों को ही पूरी तरह से टीका लगाया गया है.

बढ़ते टोल के बावजूद, रूस की सरकार ने एक नए राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन से इंकार कर दिया है. बता दें कि महामारी की शुरुआत में अर्थव्यवस्था को बुरी तरह से चोट पहुंची थी जिसके बाद राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की लोकप्रियता कम हो गई.

रूस के 85 क्षेत्रों में से कुछ ने बड़े सार्वजनिक कार्यक्रमों में उपस्थिति और थिएटर, रेस्तरां और अन्य स्थानों तक लोगों की एंट्री को सीमित कर दिया है. हालांकि, मॉस्को, सेंट पीट्सबर्ग और कई अन्य रूसी शहरों में दैनिक जीवन सामान्य रूप से चल रहा है. स्वास्थ्य मंत्री मिखाइल मुराश्को ने इस सप्ताह स्वीकार किया कि कोरोना के चलते देश की चिकित्सा सुविधाओं पर दबाव बढ़ा है..

कोरोना वायरस टास्क फोर्स ने अब तक कुल मिलाकर 7,958,000 से अधिक कोरोना मामले और 222,315 मौतें दर्ज की हैं. मौत का ये आंकड़ा यूरोप में सबसे ज्यादा है. आधिकारिक रिकॉर्ड रूस को संयुक्त राज्य अमेरिका, ब्राजील, भारत और मैक्सिको के बाद दुनिया में पांचवीं सबसे अधिक महामारी से होने वाली मौतों के रूप में रैंक करता है. हालांकि, राज्य की सांख्यिकी एजेंसी रोसस्टैट, उन मौतों को भी गिनाती है जिनमें वायरस को मुख्य कारण नहीं माना जाता था.   

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें