scorecardresearch
 

अलकायदा के यमन ब्रांच ने ली 'चार्ली एब्दो' पर हुए हमले की जिम्मेदारी

अलकायदा की यमन शाखा के एक टॉप लीडर ने पेरिस के अखबार 'चार्ली एब्दो' पर हुए हमले की जिम्मेदारी ली है. अरब देशों में फैले अलकायदा (AQAP) का टॉप कमांडर नासर अल-अंसी ने दावा किया कि अलकायदा के यमन ब्रांच ने ही हमले के लिए टारगेट चुना. हमले का प्लान तैयार करने के साथ-साथ फंड भी इसी ने जुटाया.

अलकायदा की यमन शाखा के एक टॉप लीडर ने पेरिस के अखबार 'चार्ली एब्दो' पर हुए हमले की जिम्मेदारी ली है. अरब देशों में फैले अलकायदा (AQAP) का टॉप कमांडर नासर अल-अंसी ने दावा किया कि अलकायदा के यमन ब्रांच ने ही हमले के लिए टारगेट चुना. हमले का प्लान तैयार करने के साथ-साथ फंड भी इसी ने जुटाया. 'चार्ली एब्दो' के कवर पर फिर पैगंबर का कार्टून

नासर अल-अंसी 11 मिनट के एक इंटरनेट वीडियो में नजर आया. वीडियो में उसने अखबार पर हुए हमले को जायज ठहराया है. उसने फ्रांस के लोगों को 'शैतान की पार्टी' करार देते हुए और आतंक व त्रासदी झेलने के लिए तैयार रहने की चेतावनी भी दी है.

इससे पहले, AQAP ने पेरिस के साप्ताहिक व्यंग्य पत्रिका 'चार्ली एब्दो' के ऑफिस तथा एक सुपरमार्केट पर हमले की तारीफ करते हुए धमकी दी थी कि अगर वह मुसलमानों के खिलाफ छेड़े गए युद्ध को बंद नहीं करता, तो उस पर और हमले होंगे.

साल 2009 में यमन में अस्तित्व में आए AQAP को अंसार अल-शरिया के नाम से भी जाना जाता है, जो कुछ पश्चिमी देशों पर हमले की जिम्मेदारी ले चुका है.

गौरतलब है कि पेरिस में चार्ली एब्दो पत्रिका के ऑफिस पर हमला करके आतंकियों ने 12 लोगों को मौत के घाट उतार दिया था. उसके बाद दोहरे बंधक संकट के कारण फ्रांस को सुरक्षा अभियान चलाना पड़ा. पेरिस में शुक्रवार को चार्ली एब्दो के संदिग्ध हमलावरों- सईद (32) तथा शरीफ (34) को एक अभियान में मार गिराया गया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें