scorecardresearch
 

गे विलेज कास्ट्रो में कुछ लम्हे... यहां बेफिक्री से घूमते हैं समलैंगिक जोड़े

ट्विन पीक्स से शहर का नजारा लेने के लिए जैसे ही हमारी गाड़ी तेजी से घुमावदार रास्तों से आगे बढ़ रही थी. तभी एकदम से हमारी बस में सुगबुगाहट तेज हो गई और हमारे साथी चीनी पर्यटक उचक-उचककर खिड़कियों से बाहर झांकने लगे. बिल्कुल इस तरह जैसे कुछ अजीबोगरीब चीज बाहर नजर आ रही हो.

X
गे विलेज कास्ट्रो की एक झलक गे विलेज कास्ट्रो की एक झलक

सैन फ्रांसिस्को अमेरिका में प्रशांत महासागर के तट पर बसा बहुत ही खूबसूरत शहर है. ऐसा शहर जिसमें सिलीकॉन वैली है और जिसकी आबादी लगभग साढ़े आठ लाख के करीब है, जिसमें से लगभग साढ़े तीन लाख से ज्यादा लोग प्रवासी है.

यहां दुनिया भर में लोकप्रिय गोल्डन गेट ब्रिज है तो लॉम्बार्ड स्ट्रीट जैसी जगह भी जो अपनी खूबसूरती की वजह से दुनिया भर में पहचानी जाती है. पहाड़ी पर बसा यह शहर अपनी घुमावदार सड़कों और प्रशांत महासागर से आने वाली ठंडी हवाओं की वजह से खासा लोकप्रिय है. यहां आपको अपने साथ बादल चलते नजर आते हैं.

यहां आए किसी भी पर्यटक की पसंदीदा जगह होती है, ट्वीन पीक्स. जहां से पूरा शहर का नजारा लिया जा सकता है. बादलों के बीच से शहर का नजारा वाकई कमाल का अनुभव रहता है. सैन फ्रांसिस्को वैली के घुमावदार रास्ते इस ओर ले जाते हैं. जैसे-जैसे इस ठिकाने की ओर कदम बढ़ते हैं, बादल गहरे होते जाते हैं और सफर दिलचस्प.

ट्विन पीक्स से शहर का नजारा लेने के लिए जैसे ही हमारी गाड़ी तेजी से घुमावदार रास्तों से आगे बढ़ रही थी. तभी एकदम से हमारी बस में सुगबुगाहट तेज हो गई और हमारे साथी चीनी पर्यटक उचक-उचककर खिड़कियों से बाहर झांकने लगे. बिल्कुल इस तरह जैसे कुछ अजीबोगरीब चीज बाहर नजर आ रही हो. मैंने भी बड़ी उत्सुकता से बाहर देखा तो कुछ खास नजर नहीं आया. तभी हमारी गाइड ने बताया कि यह कास्ट्रो स्ट्रीट है, जिसे गे विलेज भी कहा जाता है. मैंने बाहर झांका तो जिधर देखो उधर रेनबो झंडे लगे थे. इन झंडों को देखकर दिमाग में कुछ दिन पहले फेसबुक पर चले रेनबो फ्लैग घूमे, जो समलैंगिकों के समर्थन में फेसबुक में कई लोगों ने अपनी तस्वीर के ऊपर इस्तेमाल किए थे.


यह एक ऐसी जगह है जहां समलैंगिक रहते हैं. यहां ये रेनबो फ्लैग जगह-जगह लगे हैं. एक कैफे पर कई फ्लैग लगे थे. घरों के आगे भी इसी तरह के फ्लैग लगे थे. ये झंडे इस बात का प्रतीक हैं कि इस घर में कोई समलैंगिक रहता है या यह कैफे गे के लिए है. ऐसा नहीं है कि इस इलाके में सिर्फ गे रहते हैं, बाकी लोग भी रहते हैं. कास्ट्रो को शॉपिंग के लिए भी बेहतरीन जगह भी माना जाता है. मजेदार यह कि कोई अपनी पहचान छिपाता नहीं है. कोई भेदभाव नहीं है, और जीवन के इस पहलू को पूरा सम्मान दिया जाता है. यहां जून के महीने में होने वाली गे परेड विश्व प्रसिद्ध है तो हैलोवीन पर होने वाला समागम भी मजेदार है, और दुनिया भर से लोग इसे देखने आते हैं.

ये है 'गे कैपिटल ऑफ वर्ल्ड'
सैन फ्रांसिस्को को गे कैपिटल ऑफ वर्ल्ड भी कहा जाता है. यहां सेक्सुअल ओरियंटेशन को लेकर पूरी आजादी है. समलैंगिक अधिकारों के लिए संघर्ष करने वाले हारवे मिल्क (जिस पर मिल्क नाम से हॉलीवुड फिल्म भी बन चुकी है) का शहर है. कास्ट्रो की सड़कों पर समलैंगिकों को हाथोहाथ में डाले बेफिक्री से घूमते देखा जा सकता है. समलैंगिकों के अलग से कैफे हैं, जहां वे मस्ती से बैठे नजर आते हैं. यह शहर का सबसे साफ-सुथरा इलाका भी है.


सड़कों पर मस्ती और बेफ्रिक्री का भाव लिए घूमते इन लोगों को देखना वाकई सुखद अनुभव है. आजादी के भाव का एहसास. लेकिन चीनी लोगों का खिड़की से बाहर झांककर उन लोगों को किसी अजीब चीज का तरह देखना और अपनी भाषा में उन्हें लेकर व्यंग्य कसना (जो मुझे उनकी हंसी से एहसास हुआ) वाकई एशियाई संकुचित सोच का इशारा था. इसकी शानदार सड़कों और इस माहौल से गुजरते हुए दिमाग में यहीं कौंधा कि हमारे देश का क्या? जहां समलैंगिकता का जिक्र प्राचीन ग्रंथों में मिलता है, वहां आज भी इसे बीमारी की तरह देखा जाता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें