scorecardresearch
 
विश्व

इमरान खान बुरी तरह झल्लाए, बोले- हम तालिबान के प्रवक्ता नहीं

तालिबान
  • 1/8

तालिबान की मदद के आरोप पर पाकिस्तान बैकफुट पर है. प्रधानमंत्री इमरान खान ने सफाई दी है कि तालिबान के हमले के लिए पाकिस्तान को जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता है. गुरुवार को उन्होंने एक तरह से झल्लाते हुए यह भी कहा कि उनकी सरकार तालिबान की प्रवक्ता नहीं है.

(फोटो-Getty Images)

तालिबान
  • 2/8

आतंकी संगठन की मदद को लेकर अफगानिस्तानी पत्रकारों की टिप्पणी पर इमरान खान ने कहा, "तालिबान जो कर रहा है या नहीं कर रहा है, उसका हमसे कोई लेना-देना नहीं है. उसके लिए हम जिम्मेदार नहीं हैं और न ही तालिबान के प्रवक्ता हैं."

(फोटो-Getty Images)

तालिबान
  • 3/8

प्रधानमंत्री इमरान खान की यह टिप्पणी अमेरिकी पत्रकार जूडी वुड्रूफ के इंटरव्यू के एक दिन बाद सामने आई है. साक्षात्कार के दौरान पाकिस्तान की तरफ से अफगान तालिबान को कथित सैन्य, खुफिया और वित्तीय सहायता मुहैया कराये जाने के बारे में सवाल पूछा गया था. 

(फोटो-Getty Images)
 

अफगानिस्तान
  • 4/8

डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक, काबुल के घटनाक्रम से दूरी साधते हुए इमरान खान ने कहा कि वो अफगानिस्तान में सिर्फ अमन-शांति चाहते हैं. उन्होंने कहा कि अफगानों के पास एक विकल्प है कि क्या वे अमेरिका समर्थित सैन्य समाधान चाहते हैं या राजनीतिक समझौता जिसमें समावेशी सरकार हो.       

(फोटो-Getty Images)
 

तालिबान
  • 5/8

इमरान खान ने कहा, 'पाकिस्तान में तीस लाख अफगान शरणार्थी हैं, उनमें से लगभग सभी पश्तून हैं और अधिकांश की तालिबान के साथ सहानुभूति होगी. पाकिस्तान के लिए यह देखना कैसे मुमिकन हो पाएगा कि वहां कौन लड़ने जा रहा है. हम उस स्थिति में कैसे जांच कर पाएंगे जब हर रोज तीस हजार लोग अफगानिस्तान जाते हैं. पाकिस्तान इसकी जांच कैसे करेगा?'

(फोटो-Getty Images)
 

तालिबान
  • 6/8

इमरान खान ने कहा, "पाकिस्तान में हमारे पास 30 लाख शरणार्थी हैं तो (अफगानिस्तान में घुसपैठ के लिए) पाकिस्तान को कैसे जिम्मेदार ठहराया जा सकता है? शरणार्थी शिविरों में 100,000 और 500,000 लोग रहे हैं. हम अपनी तरफ से पूरी कोशिश कर रहे हैं, लेकिन जब आपके यहां 30 लाख से ज्यादा शरणार्थी हैं तो पाकिस्तान को जिम्मेदार ठहराना संभव नहीं है."

(फोटो-Getty Images)

पाकिस्तान
  • 7/8

इमरान खान ने कहा, पाकिस्तान के लिए शरणार्थी शिविरों के जरिये यह पता लगाना मुमकिन नहीं था कि कौन तालिबान समर्थक है और कौन नहीं, उन्होंने कहा कि हाल तक दोनों देशों के बीच कोई भौतिक सीमा नहीं थी. अफगानिस्तान और पाकिस्तान के बीच 2640 किलोमीटर लंबी सीमा का जिक्र करते हुए पाकिस्तानी पीएम ने कहा, "डूरंड रेखा काल्पनिक थी." उन्होंने बताया कि पाकिस्तान ने सीमा पर बाड़ लगाने का 90 प्रतिशत काम पूरा कर लिया है.

(फोटो-Getty Images)

अफगानिस्तान
  • 8/8

अफगानिस्तान सरकार पाकिस्तान पर तालिबान की मदद करने का लगातार आरोप लगा रही है. अफगान राष्ट्रपति अशरफ गनी हजारों तालिबान लड़ाकों के पाकिस्तान से अफगानिस्तान में एंट्री की खुफिया जानकारी सार्वजनिक कर चुके हैं, जबकि अफगान उपराष्ट्रपति अमरुल्ला सालेह पाकिस्तान आर्मी और एयरफोर्स दोनों पर तालिबान की मदद का आरोप लगा चुके हैं.

(फोटो-AP)