scorecardresearch
 
विश्व

फ्रांस के दूतावास ने अपने नागरिकों से कहा, तुरंत छोड़ें पाकिस्तान

france
  • 1/9

पाकिस्तान में फ्रांस के दूतावास ने गुरुवार को अपने सभी नागरिकों और फ्रेंच कंपनियों को पाकिस्तान छोड़ने के लिए कहा है. न्यूज एजेंसी एएफपी के मुताबिक, फ्रांस के दूतावास ने कहा है कि पाकिस्तान में फ्रांस के हितों को गंभीर खतरे के मद्देनजर फ्रांस के नागरिकों और कंपनियों को अस्थायी तौर पर देश छोड़ने की सलाह दी जाती है. मौजूदा कॉमर्शियल एयरलाइन्स के जरिए सभी नागरिकों की यात्रा का प्रबंध किया जाएगा. फ्रांस के दूतावास ने अपने नागरिकों को मेल के जरिए ये एडवाइजरी भेजी है.

france
  • 2/9

फ्रांस ने जब से मैगजीन शार्ली हेब्डो में पैगंबर मोहम्मद के कार्टून फिर से प्रकाशित किए जाने का समर्थन किया है, तब से ही पाकिस्तान में फ्रांस विरोधी भावनाएं प्रबल हुई हैं. पिछले कुछ हफ्तों से कट्टरपंथी इस्लामिक संगठन तहरीक-एल-लबाइक पाकिस्तान के नेतृत्व में फ्रांस के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन तेज हो गए हैं. देश भर में हो रहे इन विरोध-प्रदर्शनों में कई लोग अपनी जान भी गंवा चुके हैं.

france
  • 3/9

फ्रांस की ये एडवाइजरी तब आई है, जब पाकिस्तान की सरकार ने तहरीक-ए-लबाइक (टीएलपी) संगठन पर बैन लगाने की बात कही है. फ्रांस की संसद में जल्द ही एक बिल को मंजूरी मिलने वाली है. इस बिल को कट्टरपंथ इस्लाम पर लगाम लगाने वाला बिल कहा जा रहा है. इसमें धार्मिक संगठनों की फंडिंग को लेकर नियम कड़े करने समेत कई प्रावधान किए गए हैं. इस बिल को लेकर भी पाकिस्तान के मुस्लिम समुदाय में नाराजगी है.
 

france
  • 4/9

इस्लामिक संगठन टीएलपी फ्रांस में प्रकाशित पैगंबर के कार्टून को लेकर विरोध कर रहा है. उसकी मांग है कि पाकिस्तान सरकार फ्रांस के राजदूत को निष्कासित कर दे और साथ ही फ्रांस के सभी उत्पादों का बहिष्कार किया जाए. इमरान खान की सरकार टीएलपी के दबाव में इस मांग के आगे झुक गई थी और इसके लिए संसद में तीन महीने में प्रस्ताव लाने का वादा किया था. यह समय सीमा 16 फरवरी समाप्त होने के बाद, सरकार ने समझौते को लागू करने में असमर्थता व्यक्त की और इसके लिए अधिक समय मांगा. 

france
  • 5/9

तहरीक-ए-लबाइक ने सरकार को 20 अप्रैल तक का वक्त दिया. टीएलपी के नेता अल्लामा साद हुसैन रिजवी ने बीते रविवार को अपने समर्थकों से वीडियो मैसेज में कहा कि अगर सरकार निर्धारित समय पर वादा पूरा नहीं करती है तो धरना-प्रदर्शन के लिए तैयार रहें. इसके बाद सरकार ने साद हुसैन रिजवी को गिरफ्तार कर लिया. 

france
  • 6/9

रिजवी की गिरफ्तारी के चंदों घंटों के भीतर पाकिस्तान के कई शहरों में विरोध प्रदर्शन के लिए लोग सड़कों पर उतर आए. कई जगह प्रदर्शनकारियों ने रास्ता जाम कर दिया. पुलिस बल पर पत्थर फेंका. सोमवार को आलम यह हो गया कि लाहौर, गुजरांवाला, इस्लामाबाद और पेशावर जैसे सभी मुख्य शहर एक दूसरे और देश के बाकी हिस्सों से कट गए. पाकिस्तान में मंगलवार को पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प हुई. इसमें दो पुलिसकर्मियों की मौत हो गई. रिजवी पर हत्या के लिए उकसाने का मुकदमा दर्ज किया गया है.

france
  • 7/9

इसी संगठन के समर्थकों ने नवंबर महीने में भी पाकिस्तान में फ्रांस के खिलाफ लगातार तीन दिन तक प्रदर्शन किए थे. इस दौरान, सब कुछ ठप सा पड़ गया था.
 

france
  • 8/9

टीएलपी पर बैन लगाने का ऐलान करने के बाद पाकिस्तान के गृह मंत्री शेख राशिद ने पत्रकारों से कहा कि सरकार नहीं चाहती है कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय में उसकी पहचान एक अतिवादी देश के तौर पर हो. हालांकि, टीएलपी के सुन्नी समर्थकों की बड़ी संख्या के चलते संगठन पर बैन लगाना पाकिस्तान के लिए किसी चुनौती से कम नहीं होगा.

france
  • 9/9

पाकिस्तान में ईशनिंदा को लेकर बेहद सख्त कानून हैं. ईशनिंदा को लेकर मौत की सजा का भी प्रावधान है. इस्लाम या इस्लामिक शख्सियतों का अपमान करने वालों को सजा दिलाने के लिए इस कानून का भरपूर इस्तेमाल होता है.