scorecardresearch
 

41 साल जंगल में रहा 'असली' टार्जन, इंसानों के बीच 8 साल में ही हो गई मौत!

Real Life Tarzan: वियतनाम के जंगलों में 41 साल तक रहने के बाद लैंग को इंसानी सभ्यता में लाया गया था. लेकिन दुख की बात है कि इंसानों के बीच महज आठ साल में ही ‘असली टार्जन’ (Tarzan) की मौत हो गई. लैंग की मौत की वजह लीवर कैंसर (Liver Cancer) है.

हो वैन लैंग (फ़ोटो- गेटी) हो वैन लैंग (फ़ोटो- गेटी)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • रियल लाइफ "टार्जन' की मौत
  • लीवर कैंसर से तोड़ा दम

आधुनिक दुनिया से अलग जंगल में 41 वर्षों तक जीवन बिताने वाले ‘रियल लाइफ टार्जन’ (Real Life Tarzan) हो वैन लैंग (Ho Van Lang) की मौत हो गई. लैंग को उनके पिता के साथ आठ साल पहले जंगल से "सिविलाइज्ड दुनिया" (Civilised World) में लाया गया था. 

मिरर यूके की रिपोर्ट के मुताबिक, वियतनाम के जंगलों में 41 साल तक रहने के बाद लैंग को इंसानी सभ्यता में लाया गया था. लेकिन दुख की बात है कि इंसानों के बीच महज आठ साल में ही ‘असली टार्जन’ (Tarzan) की मौत हो गई. लैंग की मौत की वजह लीवर कैंसर (Liver Cancer) है. पिछले सोमवार को इस बीमारी के कारण लैंग ने दम तोड़ दिया. 

रिपोर्ट के अनुसार, लैंग के पिता हो वान थान (Ho Van Thanh) जो वियतनाम की ओर से लड़ाई कर रहे थे, 1972 में जंगलों में रहने चले गए थे. उस वक्त वियतनाम युद्ध (Vietnam War) के दौरान अमेरिकी बमबारी (US Bombing) में उनके आधे परिवार की मौत हो गई थी. ऐसे में जान बचाने के लिए वो दोनों जंगल भाग गए.

महिलाओं से थे अनजान

दशकों तक दोनों पूरी तरह से आधुनिक दुनिया से दूर रहे. जंगल में मिलने वाली चीजों जैसे शहद, फल और वन जीवों को खाकर वे जीवन यापन कर रहे थे. जंगल में वो धरती पर महिलाओं की उपस्थिति से भी अनजान थे.

साल 2013 में उन दोनों के बारे में लोगों को पता चला तो उन्हें इंसानों के बीच लाया गया. मगर लैंग इंसानी सभ्यता में एडजस्ट नहीं कर पाए. उनकी हालत बिगड़ती गई और उन्होंने दुनिया को अलविदा कह दिया. उनके दोस्त, फोटोग्राफर अल्वारो सेरेज़ो ने कहा कि उनकी मौत का कारण "प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थ खाने और कभी-कभी शराब पीने" से जुड़ा हुआ था. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें