scorecardresearch
 

दुनिया का पहला मामला, शख्स को हुई प्राइवेट पार्ट की ये खतरनाक बीमारी

एक शख्स के शरीर से सीटी की आवाज निकल रही थी. उन्हें समझ नहीं आ रहा था कि ये आवाज शरीर के किस हिस्से से आ रही है, लेकिन इसकी वजह से शख्स की हालत खराब होने लगी. वह ठीक से सांस भी नहीं ले पा रहे थे. इसके बाद उनका इलाज शुरू हुआ तो पता चला कि सीटी की आवाज उनके Scrotum से आ रही है, और इसी वजह से उनका ये हाल हुआ है.

X
‘विस्लिंग स्क्रोटम’ से ग्रसित दुनिया का पहला मरीज मिला (प्रतीकात्मक तस्वीर/GettyImages) ‘विस्लिंग स्क्रोटम’ से ग्रसित दुनिया का पहला मरीज मिला (प्रतीकात्मक तस्वीर/GettyImages)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • शख्स के शरीर में भरने लगी थी हवा
  • 5 महीने पहले हुई सर्जरी की वजह से बिगड़ी तबीयत

एक शख्स को अपने शरीर से अजीबोगरीब आवाज सुनाई दे रही थी. उन्हें सांस लेने में भी दिक्कतें होने लगीं. उनका चेहरा सूज गया था. जिसके बाद डॉक्टरों ने जांच की तो पता चला कि उनके Scrotum (अंडकोष) से सिटी जैसी आवाज निकल रही थी. इसकी वजह से उनके शरीर में तय मात्रा से बहुत ज्यादा हवा भर रही थी और उनकी हालत खराब होने लगी थी.

मामला अमेरिका के ओहियो का है. 72 साल के एक शख्स को अपने शरीर से हिस्सिंग साउंड सुनाई दे रहा था. जिसके बाद उन्होंने अपनी जांच करवाई. पता चला कि उन्हें ‘विस्लिंग स्क्रोटम’ हैं. वह दुनिया के पहले व्यक्ति हैं जो इस बीमारी (गुप्त रोग) से ग्रसित हुए हैं. यह दावा अमेरिकन जर्नल ऑफ केस रिपोर्ट्स की नई स्टडी में की गई है.

रिपोर्ट में बताया गया है कि शख्स को सांसें नहीं आ रही थीं और उनका मुंह सूजा हुआ था. उन्होंने अपने अजीबोगरीब कंडीशन के बारे में बताया, जिसके बाद उन्हें इमरजेंसी रूम में ले जाया गया. यहां उनकी छाती का X-ray करवाया गया. इसमें पता चला कि उनके शरीर में बहुत ज्यादा मात्रा में हवा है. इसकी वजह से उनके फेफड़े सिकुड़ जा रहे हैं.

डॉक्टरों ने बताया कि अगर उनका जल्द इलाज नहीं किया जाता तो हार्ट और लंग्स हमेशा के लिए डैमेज हो सकते थे, जिससे उनकी मौत हो सकती थी. बाद में, शख्स के शरीर से आ रही अजीबोगरीब आवाज के बार में भी पता चल गया. यह उनके स्क्रोटम की बाईं ओर से एक खुले घाव से आ रही थी. दरअसल, 5 महीने पहले ही शख्स की टेस्टिकल सर्जरी ( गुप्त रोग की वजह से) हुई थी. यह घाव उसी की वजह से हो गई थी.

American Journal of Case Reports

रिपोर्ट में बताया गया है कि सांस लेने में आ रही दिक्कत और सूजे हुए शरीर की सर्जरी के कॉम्प्लिकेशन की वजह से ऐसा हुआ. शख्स के शरीर में मौजूद ज्यादा हवा को निकालने के लिए उनकी छाती में दो प्लास्टिक ट्यूब को लगाना पड़ा था.

हॉस्पिटल में तीन दिन गुजारने के बाद शख्स के लंग्स ने रिकवर किया. इसके बाद उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें