scorecardresearch
 

चार साल की बच्ची बनी लाइब्रेरियन, दो साल में पढ़ चुकी है हजार किताब

जॉर्जिया की चार साल की लड़की डालिया अराना को यूएस के लाइब्रेरी ऑफ कांग्रेस' में एक दिन के लिए लाइब्रेरियन बनाया गया है.

डालिया अराना डालिया अराना

चार साल की लड़की डालिया अराना की उपलब्धियों के बारे में सुनकर आप हैरान रह जाएंगे. दरअसल जॉर्जिया की डालिया 1,000 से ज्यादा किताबें पढ़ चुकी है और उसकी इस उपलब्धि के कारण उसे दुनिया की सबसे बड़ी लाइब्रेरी 'यूएस लाइब्रेरी ऑफ कांग्रेस' में एक दिन के लिए लाइब्रेरियन बनाया गया.

18 फीट बर्फ के बीच इस साधु की ‘जिंदगी जिंदाबाद’

डालिया ने एक दिन का कार्यभार वहां की लाइब्रेरियन कार्ला हेडन के साथ संभाला. कार्ला और डालिया ने साथ में मीटिंग्स की. दोनों लाइब्रेरी के स्टाफ से भी मिले और वहां के हॉल का भी जायजा लिया. डालिया ने लाइब्रेरी में व्हाइटबोर्ड भी लगाने का सुझाव दिया, जिससे बच्चे वहां लिखने का अभ्यास कर सकें.

पांडवों ने बनाया था ये स्कल्पचर, देखने आते हैं सैकड़ों टूरिस्ट

कार्ला ने डालिया के साथ की अपनी तस्वीरें भी ट्वीट की हैं और लिखा है, 'एक दिन की लाइब्रेरियन डालिया मैरी अराना के साथ काम करना काफी मजेदार रहा. उसने अभी ही 1,000 से ज्यादा किताबें पढ़ ली है.'

डालिया ने पहली किताब दो साल की उम्र में पढ़ी थी. यह देखकर उसकी मां ने उसे एक ऐसे प्रोग्राम में दाखिला दिला दिया था, जो बच्चों को किताबें पढ़ने कि लिए प्रोत्साहित करता है और यह भी ट्रैक रखता है कि बच्चे ने कितनी किताबें पढ़ ली हैं.

डालिया की मां ने 'लाइब्रेरी ऑफ कांग्रेस' को डालिया की उपलब्धियों के बारे में लिखा. लाइब्रेरी ने डालिया के पूरे परिवार को लाइब्रेरी बुलाया और डालिया को एक दिन का लाइब्रेरियन बनाने का प्रस्ताव रखा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें