scorecardresearch
 

जहर पीने से कम नहीं है सॉफ्ट ड्रिंक पीना

क्या आपको भी कई दूसरे लोगों की तरह सॉफ्ट ड्रिंक पीने की आदत है? अगर हां तो आपको बता दें कि सॉफ्ट ड्रिंक पीना जहर पीने से कम नहीं है.

जहर पीने के बराबर है सॉफ्ट ड्रिंक पीना जहर पीने के बराबर है सॉफ्ट ड्रिंक पीना

क्या आपको भी कई दूसरे लोगों की तरह सॉफ्ट ड्रिंक पीने की आदत है? अगर हां तो आपको बता दें कि सॉफ्ट ड्रिंक पीना जहर पीने से कम नहीं है. आपने लोगों को सिर्फ ये कहते सुना होगा कि सॉफ्ट ड्रिंक पीना सेहत के लिए अच्छा नहीं है लेकिन इससे होने वाले नुकसान के बारे में सुनकर आप भी दंग रह जाएंगे.

आपका स्वास्थ्य बहुत ही अनमोल है और सॉफ्ट ड्रिंक पीकर उसे बर्बाद करना कोई बुद्धिमानी की बात नहीं. जितना हो सके इससे दूरी बनाकर रहें. अगर आप कोशिश करेंगे तो इस बुरी आदत को छोड़ना इतना मुश्क‍िल भी नहीं है, खासतौर पर जब आपको इससे होने वाले नुकसान के बारे में पता चल जाए.

सॉफ्ट ड्रिंक पीने से होने वाले खतरे:

1. हड्ड‍ियों का कमजोर होना
सॉफ्ट ड्रिंक आपकी हड्डियों से कैल्शियम सोखने का काम करता है. जिससे हड्डियां कमजोर और भंगुर हो जाती हैं. सॉफ्ट ड्रिंक में फॉस्फोरिक एसिड मिला होता है जोकि अम्लीय होता है ये हड्ड‍ियों से कैल्शियम सोख लेता है. कैफीन भी कैल्शियम सोखने का काम करती है जिससे हड्ड‍ियों पर बुरा असर पड़ता है.

2. वजन बढ़ाता है
सॉफ्ट ड्रिंक पीने से वजन बढ़ता है. सॉफ्ट ड्रिंक्स में भरपूर मात्रा में शुगर की मात्रा होती है और ये मात्रा आपको मोटा करने के लिए पर्याप्त होती है. मोटापा तो सॉफ्ट ड्रिंक से होने वाली प्रत्यक्ष बीमारी है लेकिन उन बीमारियों का क्या जो मोटापे की वजह से होती हैं.

3. डिप्रेशन और तनाव
सॉफ्ट ड्रिंक पीने से व्यवहार पर बहुत बुरा असर पड़ता है. इससे तनाव और डिप्रेशन होने का खतरा रहता है. सॉफ्ट ड्रिंक में मिलाए गए रसायनिक तत्वों से दिमाग के रासायनिक कंपोजिशन पर बुरा असर पड़ता है. ऐसे में सॉफ्ट ड्रिंक का अधिक सेवन करने से भविष्य में डिप्रेशन और तनाव होने का खतरा बना रहता है.

4. मधुमेह होने का खतरा
जो लोग पहले से ही मोटे हैं और उनके परिवार में पहले भी कोई मधुमेह से पीड़ित रह चुका है तो उसे सॉफ्ट ड्रिंक से एकदम दूरी बना लेनी चाहिए. सॉफ्ट ड्रिंक में जिस मात्रा में शुगर मौजूद होता है वो आपके लिए खतरनाक साबित हो सकता है.

5. किडनी होती है प्रभावित
सॉफ्ट ड्रिंक का असर किडनी पर भी पड़ता है. इससे किडनी की सक्रियता पर असर पड़ता है और उसके फंक्शन पर भी. जिसका असर पूरे शरीर पर पड़ता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×