scorecardresearch
 
ट्रेंडिंग

गृह युद्ध की ओर म्यांमार? सेना कर चुकी 500 लोगों की हत्या, अब विद्रोही समूह ने धमकाया

म्यांमार
  • 1/5

म्यांमार में तख्तापलट के बाद अब तक विरोध प्रदर्शन कर रहे 500 लोगों की मौत हो चुकी है. इन सभी लोगों की मौत विरोध प्रदर्शन के दौरान सेना की कार्रवाई में हुई है. सेना के तख्तापलट के बाद अब म्यांमार में गृह युद्ध की आशंका बढ़ गई है. प्रदर्शनकारियों पर म्यांमार की सेना की कार्रवाई में 500 से अधिक लोगों के मारे जाने के बाद मंगलवार को सशस्त्र विद्रोही समूहों ने जवाबी कार्रवाई की धमकी दी. 

म्यांमार
  • 2/5

सेना की कार्रवाई के खिलाफ विद्रोही समूहों ने कहा कि अगर यह रक्तपात बंद नहीं किया गया तो वो विरोध-प्रदर्शन कर रहे लोगों के साथ मिलकर सेना को जवाब देंगे. बता दें कि विश्व शक्तियों ने तख्तापलट के खिलाफ चल रहे आंदोलन में सैन्य कार्रवाई की निंदा की है. आंदोलनकारी निर्वाचित सरकार की बहाली और वहां की नेता आंग सान सू की की रिहाई की मांग कर रहे हैं.

म्यांमार
  • 3/5

सेना की गोलीबारी में लगातार प्रदर्शनकारियों के मारे जाने के बाद मंगलवार को जातीय विद्रोही समूहों के गुट ने इस हमले की निंदा की और प्रदर्शनकारियों के साथ लड़ने की धमकी दी. देश के असंख्य सशस्त्र जातीय विद्रोही समूहों में से तीन - ताओंग नेशनल लिबरेशन आर्मी, म्यांमार राष्ट्रीयता डेमोक्रेटिक अलायंस आर्मी और अराकान आर्मी (एए) ने एक संयुक्त बयान जारी किया, जिसमें जवाबी कार्रवाई की धमकी दी गई.

म्यांमार
  • 4/5

बयान में कहा गया है, "अगर वे नहीं रुकते हैं और लोगों को मारना जारी रखते हैं, तो हम प्रदर्शनकारियों के साथ सहयोग करेंगे और संघर्ष करेंगे." अगर इस तरह के समूह हथियार उठाते हैं, तो इंटरनेशनल फेडरेशन फॉर ह्यूमन राइट्स (FIDH) में डेबी स्टोथर्ड ने चेतावनी दी कि स्थिति गृह युद्ध जैसी हो सकती है.

म्यांमार
  • 5/5

स्थानीय समूहों के अनुसार, थाईलैंड में सीमा पार सुरक्षित जगह की तलाश में करीब 3,000 लोग जंगल की तरफ भाग गए थे. करेन के मानवाधिकार कार्यकर्ता हेसा मू ने एएफपी को बताया कि थाई अधिकारियों ने लोगों को पीछे फिर से म्यांमार की सीमा में धकेल दिया था और उन पर संयुक्त राष्ट्र के शरणार्थी अधिकारियों को क्षेत्र से रोकने का आरोप लगाया था. असिस्टेंट एसोसिएशन फॉर पॉलिटिकल प्रिजनर्स (AAPP) ने कुल 510 नागरिकों की मौत की पुष्टि की है, लेकिन चेतावनी दी है कि इस आंकड़े में काफी बढ़ोतरी हो सकती है.