scorecardresearch
 

यूको बैंक

यूको बैंक

यूको बैंक

यूको बैंक 

यूको बैंक (UCO Bank) भारत का एक राष्ट्रीयकृत बैंक है (Nationalized Bank of India). इसे पहले यूनाइटेड कमर्शियल बैंक के नाम से जाना जाता था. इसकी स्थापना 1943 में कोलकाता में हुई थी (UCO Bank Founded). वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान इसका कुल कारोबार ₹3.24 लाख करोड़ था (UCO Bank Total Business). 2020 में फॉर्च्यून इंडिया 500 की सूची में इसे 80वां स्थान दिया गया था. फोर्ब्स ग्लोबल 2000 की वर्ष 2018 की सूची में यूको बैंक को 1948 नंबर पर स्थान दिया गया था. 30 मार्च 2017 तक पूरे भारत में इस बैंक के पास 4,000 से अधिक सर्विस यूनिट और 49 क्षेत्रीय कार्यालय थे (UCO Bank Network). सिंगापुर और हांगकांग में इसकी दो विदेशी शाखाएं भी हैं (UCO Bank Foreign Branches). यूको बैंक का मुख्यालय बीटीएम सारणी, कोलकाता में है (UCO Bank Headquarters).

1942 के भारत छोड़ो आंदोलन के दौरान भारतीय उद्योगपति जी डी बिड़ला (GD Birla) ने भारतीय पूंजी और प्रबंधन के साथ एक वाणिज्यिक बैंक के आयोजन के विचार की कल्पना की और उस विचार को आकार देने के लिए यूनाइटेड कमर्शियल बैंक लिमिटेड की स्थापना की गई (UCO Bank Founder). बैंक की शुरुआत कोलकाता के प्रधान कार्यालय के रूप में ₹2 करोड़ की जारी पूंजी के साथ की गई थी. बिड़ला इसके अध्यक्ष थे. बैंक ने पूरे भारत में एक साथ 14 शाखाएं खोली थी. द्वितीय विश्व युद्ध के बाद, यूनाइटेड कमर्शियल बैंक ने कई विदेशी शाखाएं खोलीं. 1947 में रंगून, 1951 में सिंगापुर, 1952 में हांगकांग, 1953 में लंदन में इसने अपनी शाखाएं खोलीं (UCO Bank Global Presence). भारत सरकार ने 19 जुलाई 1969 को यूनाइटेड कमर्शियल बैंक का राष्ट्रीयकरण किया (UCO Bank Nationalization). 1985 में संसद के एक अधिनियम ने बैंक का नाम बदलकर यूको बैंक कर दिया (UCO Bank Naming).

31 मार्च 2021 तक बैंक में सरकारी शेयरधारिता 94.44% थी. वित्त वर्ष 2020-21 के लिए, इसने ₹167 करोड़ का शुद्ध लाभ दर्ज किया (UCO Bank Stakeholders and Profit).
 

और पढ़ें

यूको बैंक न्यूज़