scorecardresearch
 

सुनिए जिंदगी के सफर में रिश्तों को निभाने की कहानी

सुनिए जिंदगी के सफर में रिश्तों को निभाने की कहानी

जब इंसान प्रेम में होता है तो आंखें ज़ुबा बन जाती हैं, और मन कान. लेकिन जब मन में गुस्सा या नफरत होती है तो मुंह की भूमिका शुरू हो जाती है, जिसकी आवाज दूर तक जाती है. रिश्ता चाहे जैसा भी हो लेकिन उसे प्यार से निभाने की कोशिश करनी चाहिए. सिन्हा से सुनिए जिंदगी के सफर में रिश्तों को निभाने से जुड़ी दिलचस्प कहानी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें