scorecardresearch
 

संजय सिन्हा की कहानीः बड़ा होना

संजय सिन्हा की कहानीः बड़ा होना

नरेश ग्रोवर भैया अपने दोस्त के साथ एक उद्योगपति से मिलने गए थे. मैं जानता हूं कि आप तुरंत पूछ बैठेंगे कि नरेश ग्रोवर भैया कौन? देखिए, आप अपने परिजन हैं और आपको हक है मुझसे कुछ भी पूछने का, और मुझे अच्छा लगता है आपको कुछ भी बताना. नरेश ग्रोवर भैया अपने जबलपुर में रहते हैं, सत्य अशोक होटल के मालिक हैं और आप सबके प्रिय कमल ग्रोवर भैया के बड़े भाई हैं. मैं जब भी जबलपुर आता हूं, नरेश ग्रोवर भैया से ज़रूर मिलता हूं. उनके साथ बैठने का मतलब है ज़िंदगी की कहानियों से रुबरू होना. देखिए संजय सिन्हा की कहानी.

Naresh Grover Bhaiya went to meet an industrialist with his friend. I know that you will ask immediately to me, who is the Naresh Grover Bhaiya? Look, you are my family and you have the right to ask me anything, and I like to tell you anything. Naresh Grover Bhaiya lives in Jabalpurand he is owner of the Ashoka hotel and you are the elder brother of Kamal Grover Bhaiya, all of you dear. Whenever I come to Jabalpur, I get definitely to Naresh Grover Bhaiya. Sitting with them means to be happy with stories of life. Know about story watch video.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें