scorecardresearch
 

किस्मत कनेक्शन: जानिए रत्नों के स्थान पर उपरत्न क्यों करते हैं धारण? क्या है इनका महत्व ?

किस्मत कनेक्शन: जानिए रत्नों के स्थान पर उपरत्न क्यों करते हैं धारण? क्या है इनका महत्व ?

ज्योतिषीय उपायों में मुख्य रूप से नौ रत्नों की चर्चा की गयी है. परन्तु ये रत्न कभी कभी बहुत ज्यादा महंगे होते हैं और कभी कभी इनके नकली होने की सम्भावना भी होती है. रत्नों के स्थान पर उपरत्न भी पहने जाते हैं जो सस्ते भी होते हैं और कारगर भी. उपरत्न और रत्न में मुख्य अंतर यही है कि रत्न ज्यादा लम्बे समय तक काम करते हैं. जबकि उपरत्न कम समय के लिए प्रभावशाली होते हैं. एक ग्रह के लिए मुख्य रूप से एक रत्न और कई सारे उपरत्न होते हैं. सही उपरत्न का चुनाव करके धारण किया जाय तो निश्चित लाभ होता है. देखें वीडियो.

In astrological remedies, mainly nine gems have been discussed. Uparatna is also worn in place of gems which are cheap as well as effective. The main difference between Uparatna and gems is that gemstone works for a longer period of time. Whereas Uparatnas are effective for a short period of time. Apart from that if wear the right Upratna, there is then there is a definite benefit.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें